Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Nov 26th, 2018

    क्यों मारा दिनदहाडे नागपुर पुलिस कॉन्स्टेबल को चाकु ?

    नागपुर शहर में अपराधियों के हौसले बुलंद।
    नागपुर पुलिस अपराध पर अंकुश लगाने का दावा तो करती रहती है लेकिन वास्तविकता और सच्चाई कुछ और ही है।
    नौ घंटे बीत जाने के बाद भी हमलावर गिरफ्त से बाहर – पढ़े नागपुर टुडे की स्पेशल रिपोर्ट

    नागपुर: बीती रात यवतमाल में पुलिस हवलदार की हत्या और दो पुलिस कर्मी ओ पर हमला की वारदात को लेकर समुचे महाराष्ट्र पुलिस विभाग में हड़कम मच गया है। इतने बड़ी वारदात से दिन भर यह मामला गर्माया ही था की आज दिन दहाड़े सुबह नागपुर के जरीपटका पुलिस थाना के एक पुलिस कॉन्स्टेबल को किसी ने चाकु मार दिया यह खबर आ गई।

    नागपुर शहर में अपराधियों के दिन में दिन हौसले बुलंद होते जा रहे है। छोटी सी बात को लेकर हत्या , हत्या का प्रयास की वारदात को अंजाम दिया जा रहा है। नागपुर पुलिस अपरधियों पर अंकुश लगाने की बात तो करती रहती है लेकिन वास्तविकता कुछ और ही है। हाल ही में हुई नंदनवन के हद्द में खरबी चौक पर हुई हत्या से यह दिखाई देता है की हत्यारे भर चौराहे पर एक वेक्ति को ऑटो में लेकर आते है और दिनदहाड़े उसकी हत्या भर चौराहे पर कर देते है। उसके सिर पर डंडो से वार करते दिखाई देते है और यह सारी वारदात वहा लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद होती है।

    अपरधियों के हौसले इतने बुलंद हुवे की मामूली झगडे के कारण कोतवाली थाना अंतर्गत एक बीयर बार के सामने कुछ अपराधी घंटे भर से विवाद करते रहते है। रास्ते के लोगो को गाली गलोच करते रहते है और कुछ देर बाद फत्तर से एक युवक की हत्या कर देते है यह वारदात वहा के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो जाती है लेकिन अपराधी ओ के डर से कोई भी नागरिक ने पुलिस को ईस घटना की सुचना देने से भी कतराते रहते है इतना ही नहीं बल्कि नागपुर शहर में हुडकेश्वर थाना अंतर्गत किसी अपारधी को “भाऊ ” करके नहीं बुलाया तो उस अपारधी ने साथियो के साथ मिलकर पचास से अधिक वार कर उसकी हत्या कर दी।

    जरीपटका में खुले आम ताश खेल रहे अपराधी युवक पर उसके ही दोस्तों ने चाकु घोपकर उसकी हत्या कर दी। अजनी थाना अंतर्गत में एक तरफ़ा प्यार में दो युवक ने प्रेमी की हत्या कर दी। सक्करधरा में एक पति ने पत्नी से अनभन के चलते उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। गणेशपेठ थाना अंतर्गत एक प्रेमी ने चार किलोमीटर कार से पीछा कर प्रेमिका और उसके मित्र पर तेज रफ़्तार कार से उसकी हत्या कर दी। इस हत्या में प्रेमिका का मित्र तो बच गया लेकिन प्रेमिका की हत्या हो गई।

    पांचपावली में गाडी के आवाज को लेकर चार अपरधियों ने बेहगुणा युवक को चाकु घोपकर उसकी हत्या कर दी। एमआयडीसी पुलिस थाना अंतर्गत एक प्रेमी की हत्या पुराने प्रेमी ने कर दी। इसके अलावा एक पिता ने अपने दो बेटे को कुँवा में फेककर उसकी हत्या कर दी। सीताबर्डी थाना अंतर्गत एक सरकारी टॉलेट के टाँके में डुबाकर पति ने पत्नी की हत्या कर दी।

    यशोदरा थाना अंतर्गत 500 रूपये के विवाद को लेकर पानठेले वाले युवक की चार लोगो ने मिलकर हत्या कर दी। अजनी में गार्डन में किसी अपराधी को दिन दहाड़े मौत के घाट उतार दिया। पार्किंग के समस्या को लेकर पांचपावली में हत्या के वारदात को अंजाम दिया गया। अंबाझरी थाना क्षेत्र से किडन्याप कर एक नाबालिक की वाड़ी के जंगल में ले जाकर शराब पिलाकर हत्या की गई। तहसील थाना अंतर्गत शराब के नशे में भाई ने भाई को मार दिया। तेवीस साल के प्रेमिका की उसी के ही प्रेमी ने चाकु मारकर उसकी हत्या कर दी।

    हुडकेश्वर थाना अंतर्गत दिल दहलाने वाली वारदात में पडोसी ने ही मामुली विवाद को लेकिन एक 54 साल की महिला और उसके देढ़ साल की नात का गला काट कर हत्या कर दी। नंदनवन थाना अंतर्गत एक शख्स ने एक ही परिवार के बेहरहमी से सब्बल से खुद के बेटी सहित 5 लोगो की हत्या कर दी।

    समुचे नागपुर शहर में सन 2018 में विविध थानों को मिलाकर अब तक 64 से अधिक हत्या होने की जानकारी सामने आ रही है। 64 हत्या में 100 अधिक अपरधियों को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा गया है साथ ही जानलेवा हमला या हत्या का प्रयास की 60 से अधिक वारदात हुई है और उसमे भी 100 से अधिक अपराधी को जेल में भेजा गया है।

    और आज दिनदहाडे नागपुर के जरीपटका थाने के पुलिस कॉन्स्टेबल को चाकु मारने की खबर आग के तरह नागपुर पुलिस विभाग फ़ैल गई। मामले की सच्चाई जानने में जुटे तब पता चला की जरीपटका के पुलिस कॉन्स्टेबल पदमाकर ऊके यह आज अपने रिस्तेदार के बेटे को परीक्षा केंद्र में छोड़ने जा रहे थे। गाडी में पेट्रोल कम होने के वजह से वह मार्टिन नगर के पेट्रोल पपं में पेट्रोल भरने के लाईन में खड़े थे। तभी पीछे से आकर दो युवक ने बिच में ही गाडी घुसाड दी तभी कुछ लाइन में लगे लोग चिल्लाने लगे और पुलिस सिपाही पद्माकर ऊके ने भी उन युवक का डाटा। तब वह युवक बोलने लगा की तु मुझे पहचानता नहीं क्या ? इस बात को लेकर पुलिस सिपाही और अज्ञात दो युवक से मारपीट शुरू हो गई।

    दोनों युवक पुलिस सिपाही पर भारी पड़े। इतने में एक युवक ने फोन लगाकर अपने तीसरे साथीदार को बुला लिया। तीसरा युवक आते ही उसने पुलिस कॉन्स्टेबल पर घातक हथियार से वार कर दिया। वह घातक हथियार चाकु या आरी समान दिखाई दे रहा था। तीनो लोग पुलिस सिपाही को मारने लगे तभी वहा कुछ लोग जमा होने लगे तो तीनो अपराधी किसम के युवक भाग गए। पुलिस सिपाही कुछ समज पाता तो उसके हातो से खून की धार बहने लगी। उसने हात का इलाज कर वह जरीपटका थाने जाकर तीन अज्ञात हमलावर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

    जरीपटका पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जरीपटका के थानेदार पराग पोटे से बात की तो उन्होंन्हे बताया की पुलिस कॉन्स्टेबल यह साप्ताहिक छुट्टी पर था। और पुलिस के ड्रेस पर नहीं था। यदि पुलिस के ड्रेस पर रहता तो यह हमला नहीं हुवा रहता। और पुलिस सिपाही ने भी उन हमलावरों को नहीं बताया की वह पुलिस है खैर गौरतलब यह है की इतनी बड़ी वारदात हुई पुलिस सिपाही पर हमला हुवा लेकिन 9 घंटे बित जाने पर भी पुलिस ने अब तक उन अज्ञात हमलावरों को गिरफ्तार नहीं किया।

    रविकांत कांबले
    नागपुर टुडे

     


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145