Published On : Tue, Jun 27th, 2017

यह नागपुर है या वेनिस ? जरा देखिये तो पहली बारिश ने हमारे शहर को क्या बना दिया ?


नागपुर:
 आखिरकार मानसून ने शहर में दस्तक दे ही दी. वैसे कल भी बारिश आयी थी लेकिन बस आधे घंटे के लिए. लेकिन आज तो सुबह करीब 10-10:30 बजे बारिश का आगमन हुआ तो बड़े जोरों शोरों से लगातार 2- 2:30 तक बदरा बरसते रहें. इससे गर्मी और उम्मस से तो शायद राहत मिल जाये लेकिन एक नयी समस्या खड़ी हो गयी है.

सडकों से बह रहीं है नदियां
शहर का नजारा देखने लायक है. सड़कें नदियों में तब्दील हो गयी हैं. शहर में बहुत सी सडकों का निर्माण कार्य चल रहा है, कुछ सड़कें आधी बनी हैं, उनके आधे भाग में पानी भार गया है. रोड के दोनों भागों के बिच में 1- 1.5 जो गैप हैं उसमें से पानी ऊँचे भाग से बहता हुआ निचले भाग की ओर जा रहा है. और जंहा कोई काम नहीं हो रहा, वहां ड्रेनेज के पुख्ता इंतेजाम न होने के कारन पानी जोरों से बह रहा है.

त्रयस्थ पक्ष द्वारा किये गए एक सर्वेक्षण के अनुसार, शहर के सीमेंट रास्तों ड्रेनेज पॉइंट्स नहीं बनाये गएँ हैं, और जहाँ बने हैं वहां कचरा फस जाने से वो चोक हो गएँ हैं. इस वजह से पानी बहता हुआ आखिर में नाग नदी, पिली नदी में जाकर मिलता है, जो उनके किनारे बसी बस्तियों के लिए खतरे का संकेत है.

रास्तों पर इकठ्ठा पानी घरों, इमारतों के कंपाउंड्स में भी घुसेगा, क्योंकि अब यह रोड की सतह से निचे हैं.


यह जमा हुआ बारिश का पानी अस्वच्छ और गन्दा होने के कारण मच्छरों के प्रजनन के लिए आदर्श स्थान बन जायेगा. लेकिन फ़िलहाल तो यह पानी वाहनचालकों, बाइकसवारों के लिए परेशानी का सबब बन जायेगा, क्योंकि जब वो पानी में छिपे हुए सीमेंट ब्लॉक्स और गड्ढों से टकराएंगे, तो किसी बड़ी दुर्घटना को नकारा नहीं जा सकता. और अगर कोई हादसा होता है, तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा ?

अभी तो बस बरसात के दिन आएं ही हैं, जैसे कारवां जुलाई और अगस्त में पहुंचेगा तो न जाने क्या हाल होगा ? सीमेंट रोड के कामों को बारिश से पूर्व ही समाप्त किया जाना चाहिए था. क्या शहर के चालक इस बात से अनजान थे की नागपुर में जून के महीने में बारिश होती है ? सच में बड़े अचरज की बात है.


अब नाग नदी सही मायने में नदी दिखाई पड़ती हैं. लेकिन याद कीजिये की, एक हफ़्ते पहले यह कैसी दिखती थी ? इसकी सफाई के लाख प्रमाण दिए जाने के बावजूद नाग नदी कई जगह पर प्लास्टिक से भरी पड़ी थी. यही प्लास्टिक बाद में कई ड्रेनेज मार्ग बंद कर देगा जिसके चलते नागपुर गंदे पानी ,नालें और नदियों से घिरे एक द्वीप जैसा दिखाई देगा.

छोड़िये, लेकिन हाँ क्या आपने अपनी स्पीड बोट का आर्डर दिया ? अगर नहीं दिया तो जल्दी करिये, क्योंकि अब आप इटली के वेनिस की तरह नागपुर में भी बोटिंग का लुत्फ़ उठा सकतें हैं.

Nagpur Rain, Monsoon