Published On : Tue, Jun 19th, 2018

सातवें दिन भी जारी इंटर्न डॉक्टरों की हड़ताल, 11 हजार रुपए स्टायफंड करने की मांग

नागपुर – राज्य के इंटर्न डॉक्टरों की हड़ताल पिछले 7 दिनों से जारी है. 13 जून से डॉक्टरों का कामबंद आंदोलन शुरू है. शहर के मेयो और मेडिकल हॉस्पिटल व कॉलेज के 350 डॉक्टर भी इसमें शामिल है. डॉक्टरों की मांग है कि 6 हजार रुपए जो डॉक्टरों को स्टायफंड दिया जाता है. उसे बढ़ाकर 11 हजार रुपए किया जाए.

पिछले हफ्ते राज्य के वित्तमंत्री के साथ इंटर्न डॉक्टरों के संगठन (एसोसिएशन ऑफ़ स्टेट मेडिकल इंटर्न्स महाराष्ट्र) के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाक़ात भी की थी. लेकिन उन्होंने स्टायफंड बढ़ाने के लिए अतिरिक्त फंड देने की मांग नहीं मानी. जिसके कारण सातवें दिन भी डॉक्टरों की हड़ताल जारी है. मंगलवार यानी आज डॉक्टरों का एक शिष्ठमंडल मुंबई में डायरेक्टोरेट ऑफ़ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च के सहसंचालक से मिलनेवाला है और उसके बाद ही निर्णय लिए जाने की बात यूनियन की ओर से की जा रही है.

लगातार सात दिनों से कामबंद आंदोलन करने की वजह से मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. कई ऑपरेशन टल चुके हैं या फिर उन्हें आगे की तारीख दी गई है.

इस बारे में एसोसिएशन ऑफ़ स्टेट मेडिकल इंटर्न्स महाराष्ट्र के सहसचिव शुभम बोरेकार ने बताया कि वित्तमंत्री के साथ हुई बैठक में कोई भी नतीजा नहीं निकला है.

आज मुंबई में डायरेक्टोरेट ऑफ़ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च ( डीएमईआर ) के सहसंचालक के साथ चर्चा है उसके बाद ही आगे का निर्णय लिया जाएगा. डॉ.शुभम का कहना है कि 2015 में प्रशासन की ओर से आश्वासन दिया गया था कि 11 हजार रुपए स्टायफंड दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि हमें ज्यादा नहीं अगर 11 हजार रुपए भी दिया जाता है तो कामबंद आंदोलन बंद हो सकता है.