Published On : Mon, Jan 27th, 2020

नागपुर के हज हाउस पर नहीं फहरा तिरंगा, मुद्दे पर हो रही राजनीति

नागपुर: महाराष्ट्र हज कमेटी का नागपुर स्थित हज हाउस इस गणतंत्र दिवस पर भी झंडा वंदन से वंचित रखा गया। राष्ट्रध्वज को लेकर महाराष्ट्र हज कमेटी में ही कथित तौर पर रस्साकशी का दौर जारी है। इस बीच सूत्रों से पता चला है कि गणेश पेठ पुलिस ने इस संबंध में मामला भी दर्ज किया जा रहा है, हालांकि खबर लिखे जाने तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिल पाई।

नागपुर टुडे से बात करते हुए महाराष्ट्र राज्य हज कमेटी के अध्यक्ष जमाल सिद्दीकी ने कहा कि कमेटी के शासकीय धड़े के लोग झंडा वंदन को लेकर सरासर लापरवाही बरत रहे हैं। सिद्दीकी का कहना है कि गणतंत्र दिवस से पूर्व उन्होंने महाराष्ट्र हज कमेटी के राज्य सरकार के अधीन आने वाले कार्यकारी सदस्यों को पत्र लिखकर महाराष्ट्र हज कमेटी के मुंबई एवं नागपुर स्थित कार्यालय में झंडा वंदन की व्यवस्था करने की अपील की थी, लेकिन महाराष्ट्र हज कमेटी के अधिकारियों ने यह कहकर उनकी अपील खारिज कर दी कि केंद्रीय हज कमेटी के मुंबई स्थित हज हाउस में झंडा वंदन किया जाता है एवं महाराष्ट्र हज कमेटी कार्यालय में झंडा वंदन संभव नहीं है।

सिद्दीकी ने बताया कि रविवार सुबह जब वो नागपुर स्थित महाराष्ट्र हज कमेटी कार्यालय पहुंचे तो उन्हें वहां कोई व्यवस्था नहीं दिखाई दी। उन्होंने बताया कि नागपुर स्थित कार्यालय में कमेटी के 3 पद मंजूर है लेकिन इनमें से कोई भी पद भरे नहीं गए हैं। उन्होंने कार्यकारी अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि यहां तक कि स्थानीय लोगों ने भी जब हज हाउस पर झंडा फहराने की मांग की तो उन्होंने उनके निवेदन को भी सिरे से खारिज कर दिया, जिसके चलते हज हाउस पर इस गणतंत्र दिवस को भी झंडा नहीं फहराया गया। झंडा वंदन के लिए बाकायदा डंडा तो लगाया गया है लेकिन इस पर तिरंगा नहीं फहराया जाता।

मुंबई हज कार्यालय में 1995 से नहीं लहराया तिरंगा

नागपुर टुडे के साथ आगे चर्चा में जमाल सिद्दीकी ने दावा किया कि महाराष्ट्र हज कमेटी के मुंबई स्थित कार्यालय में साल 1995 से तिरंगा झंडा नहीं फहराया गया है।

अल्पसंख्यक मंत्री को लिखा पत्र

जमाल सिद्दीकी ने महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक को भी पत्र लिखकर इस बात से अवगत कराया था कि महाराष्ट्र हज कमेटी के कार्यकारी अधिकारी की ओर से राष्ट्रध्वज फहराने में आशा क्षमता दिखाई गई है। उन्होंने झंडा वंदन कार्यक्रम आयोजित करने के आदेश देने की मांग की थी लेकिन इस संबंध में उन्हें कोई जवाब नहीं मिला।

गौरतलब है कि इस समय राज्य में कांग्रेसी शिवसेना की सरकार है जबकि महाराष्ट्र हज कमेटी के अध्यक्ष जमाल सिद्दीकी भाजपा से हैं।।