Published On : Fri, Jul 24th, 2015

नागपुर : सफाई ठेकेदार लूट रहे नगर परिषद को – नगरसेवक यादव

बोगस मजदुर दिखाकर बिल सौंपे  

Gandagi  (1)
कन्हान (नागपुर)।
यहां के नगरपरिषद अंतर्गत गांव के ठेकेदार को साफ सफाई का ठेका दिया गया है. जहां काम पर कम और हाजरी बुक पर अधिक मजदुर दिखाए जा रहे है. इस प्रकार से नगर परिषद को स्वच्छता पर अधिक पैसा खर्च करना पड रहा है. इसकी जांच करने की मांग नगरसेवक राजेश यादव ने की है.

कन्हान न.प. ने शहर की साफ सफाई के लिए टेंडर निकालकर जय मानवता संस्था को ठेका दिया है. उक्त संस्था 1 जुलाई से शहर में साफसफाई करने का दवा कर रही है. लेकिन बारिश में भी कचरा जैसा का वैसा दिख रहा है. जिससे शहर में बीमारियां फैलने का डर निर्माण हो रहा है. फिर भी नगर प्रशासन चुप्पी साधे बैठा है. इस स्वच्छता का जायजा लेने के लिए 21 जुलाई को कांग्रेस के नगरसेवक राजेश यादव ने साफ सफाई प्रमुख लोकेश मोहता के साथ जांच की. हाजरी बुक में 39 मजदुर काम पर दिखाए गए. लेकिन सिर्फ साफ सफाई के लिए 27 कर्मचारी ही काम पर उपस्थित थे. करीब 12 कर्मचारी बोगस है, और उनके हस्ताक्षर किये गए थे.

Gandagi  (2)
विशेषतः नगर परिषद ने जय मानवता संस्था को ठेका दिया. 295 रु. प्रती मजदुर के हिसाब से ये ठेका मंजूर हुआ था. संस्था ने बोगस मजदुर दिखाकर 3540 रूपये हर दिन की कमाई की है. इस हिसाब से 21 जुलाई तक उसने 60 हजार 800 रूपये की बोगस मजदूरी का बिल सौपा था. इस बोगस मजदूरों में से कुछ घर में तो कुछ गर्भवती होने की बात पता चली है. उक्त संस्था ने सत्ताधारी भाजपा प्रशासन से लेनदेन कर बोगस बिल से लूटपाट की है. उक्त प्रकरण की जांच करके संस्था का ठेका रद्द करे और ओरिजनल बिल सौप ने की मांग राजेश यादव ने मुख्याधिकारी और वरिष्ठों को ज्ञापन द्वारा की है.