Published On : Fri, Jun 14th, 2019

नागपुर सेन्ट्रल जेल की दीवार फांदने की कोशिश हुई नाकाम। दीवार पर चढ़ने के बाद जेल पुलिस ने लिया हिरासत में।

Nagpur Central Jail

नागपुर: नागपुर सेन्ट्रल जेल सुरक्षा के दृष्टी से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। यहाँ आतंकवादी से लेकर नक्सल से जुड़े काफी खतरनाक कैदी मौजूद है। याकूब मेमन जैसे कुख्यात आतंकी को यहाँ फ़ासी भी दी गई है , डॉन डैडी अरुण गवली भी इसी नागपुर जेल में सजा काट रहा है। आज सुबह 10 बजे एक व्यक्ति सेन्ट्रल जेल की दीवार पर चढ़ा हुआ दिखाई देने से हड़कंप मच गया। जेल कर्मचारी ने सायरन बजाकर सभी जेल पुलिस अधिकारी को अलर्ट कर धंतोली पुलिस को सुचना दी। धंतोली पुलिस का स्टाफ सेंट्रल जेल में पहुंचा। जेल पुलिस को शुरवात में समझ नहीं आ रहा था की यह इंसान जेल का कैदी है या बाहर का शख्श, कोई कैदी जेल से भाग रहा तो नहीं है। थोड़ी ही देर में जेल अधीक्षक ( सुप्रिडेंट) रानी भोसले ने उस इंसान को भरोसे में लेकर उससे बातचीत की और उसे पुछताछ की। तो पता चला की वह इंसान का नाम प्रकाश दिनदयाल कोटांगले उम्र 36 साल है। वह राणाप्रतापनगर पुलिस स्टेशन अंतर्गत स्वरुप नगर का निवासी है और शराब पीने का आदि है। पूछताछ के दौरान प्रकाश के अनुसार ऐसा कहना है की वह प्रतापनगर का निवासी है और उसका एक कार पीछा कर रही थी।

उसके बाद वह भागते भागते राहाटे कॉलनी की तरफ से जेल परिसर के खेत से भागा किसी ने उसे चाकु से मारने की कोशिश भी की। उसने अपने शरीर के कपडे रास्ते में ही फेके। उसके बाद एक दूकान से उसने दुप्पट्टा खरीदा और जान बचा ने के डर से जेल के टॉवर के खेत के तरफ से जेल के दिवार पर चढ़ गया। उतने में ही जेल पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

सूत्रों के नुसार प्रकाश कोटांगले यह एक शराबी किस्म का इंसान है और अपने ही मनमर्जी से एक मनघडी कहानी रच रहा है या उसका मानसिक संतुलन ठीक नहीं है। फिलहाल जेल पुलिस ने प्रकाश को धंतोली पुलिस के हवाले कर दिया है। आगे की जांच धंतोली पुलिस कर रही है। धंतोली पुलिस ने आईपीसी 188 के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है।

– रविकांत कांबले