| |
Published On : Fri, Aug 10th, 2018

ऐसे बनेगा नागपुर के अजनी में आधुनिक तकनीक का इंटरमॉडल स्टेशन

नागपुर: उपराजधानी को भविष्य की जरूरतों के मुताबिक विकसित किया जा रहा है। इसके मद्देनजर केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितीन गडकरी ने रेलवे, बस और मेट्रो परिवहन को इंटर कनेक्ट करने की योजना बनाई है। इस योजना के केन्द्र बिंदु में इंटर मॉडल स्टेशन के रूप में अजनी रेलवे स्टेशन को रखा गया है। नागपुर रेलवे स्टेशन के समीप खुली जमीन और आधारभूत सुविधा की कमी को देखते हुए योजना का क्रियान्वयन संभव नहीं हो पा रहा था। इसके बाद अजनी रेलवे स्टेशन का चयन किया गया। बरसों से इस स्टेशन परिसर में खुली जमीन का उपयोग नहीं हो पा रहा था।

यहां जमीन पर अतिक्रमण और गंदगी का साम्राज्य भी फैल रहा था। नई योजना में खाली जमीन का इस्तेमाल कर सार्वजनिक परिवहन एवं व्यावसायिक गतिविधियों की आधारभूत संरचना तैयार की जाएगी। इस योजना के क्रियान्वित हाेने में करीब चार साल लग सकते हैं। हालांकि पहले चरण में योजना में समाहित होने वाले क्षेत्रों को निर्धारित कर लिया गया है। इसके साथ ही अजनी परिसर की करीब 75 एकड़ जगह का चयन भी कर लिया गया है।

योजना के ब्लू प्रिन्ट को तैयार कर उसे तकनीकी मंजूरी के लिए भेजने का प्रयास हो रहा है। जल्द ही योजना पर परिवहन मंत्रालय की तकनीकी समिति विस्तार से चर्चा करेगी। इसके बाद विशेषज्ञ समिति का दल औपचारिक भेंट देकर तकनीकी परियोजना को मंजूरी देगा।

इंटर मॉडल स्टेशन योजना के तहत अजनी की 75 एकड़ जमीन को अधिग्रहित करने का कार्य हो रहा है। इस योजना में रेल, मेट्रो रेल और सड़क परिवहन को जोड़ा जाएगा। अजनी में व्यावसायिक हब के रूप में इमारत बनायी जाएगी। इसके साथ ही अजनी के वर्तमान के 3 प्लेटफार्मों का नवीनीकरण किया जाएगा। इसके अलावा 4 नए प्लेटफार्म बनाए जाएंगे।

इस तरह यहां कुल 7 प्लेटफार्म हो जाएंगे। इससे स्टेशन पर एक साथ कई ट्रेनों को स्टापेज और संचालित किया जा सकेगा। इन प्लेटफार्म पर आने वाले यात्रियों को अपने मनपसंद परिवहन प्राप्त करने के लिए इंटरकनेक्टि भी किया जाएगा।

यात्री अपने लगेज के साथ पहुंचकर स्टेशन से जुड़ी मेट्रो सेवा अथवा बस परिवहन का चयन कर गंतव्य के लिए प्रस्थान कर सकेंगे। इतना ही नहीं नागपुर-मुंबई एक्सप्रेस वे, मिहान एवं मेट्रो के दोनों रूट पर भी जा सकेंगे। यात्रियों की सुविधा को देखते हुए खापरी, नागपुर एवं इतवारी स्टेशन को ट्रेन एवं मेट्रो सेवा से जोड़ा जाएगा। बस सेवा से मध्य प्रदेश, मोरभवन और गणेशपेठ के मुख्य बस स्थानक को भी कनेक्ट किया जाएगा। इन सुविधाओं से वर्धा रोड, अमरावती रोड और छिंदवाड़ा रोड को आसान कनेक्टिविटी मिल सकेगी।

उपराजधानी को अत्याधुनिक शहर बनाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा अगले 25 सालों की विकास योजना (डेवलपमेंट प्लान) के तहत मेट्रो रेल को साकार किया जा रहा है। इसके साथ ही परिवहन के अन्य संसाधनों को बढ़ाने के लिए भी योजनाएं बनाई जा रही हैं। इस कड़ी में अजनी रेलवे स्टेशन को अब नया रूप देने का प्रस्ताव बनाया गया है।

इस प्रस्ताव के तहत अजनी केवल ट्रेन और मेट्रो ट्रेन ही नहीं बल्कि सड़क परिवहन से भी जुड़ जाएगा। वर्धा रोड, अमरावती रोड और छिंदवाड़ा रोड को इंटर कनेक्टिंग करने के लक्ष्य से योजना को अमलीजामा पहनाया जा रहा है।

योजना से शहर के दोनों रेलवे स्टेशन और तीन बस स्टैंड के करीब 2,15,000 यात्रियों को बेहतर परिवहन सुविधा मुहैया होगी। इन रूटों पर पहुंचने और व्यावसायिक गतिविधियों के लिए सुगमता से रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे। करीब 1250 करोड़ के प्रस्ताव को राष्ट्रीय हाइवे प्राधिकरण (नेशनल हाइवे अथॉरिटी) ने तैयार किया है। इंटर मॉडल स्टेशन के रूप में निर्मित प्रस्ताव को जल्द ही केन्द्र सरकार के परिवहन मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। मंत्रालय की विशेषज्ञ समिति द्वारा सर्वेक्षण करने के बाद प्रस्ताव को सितंबर माह तक मंजूरी मिलने की संभावना है।

Stay Updated : Download Our App