Published On : Fri, Aug 30th, 2019

पंद्रह दिन के बच्चे की मां ने अंबाझरी तालाब में कूदकर की आत्महत्या

नागपुर: प्रसूति के पंद्रह दिन बाद एक दुधमुंहे बच्चे की मां ने शुक्रवार को अंबाझरी तालाब में कूदकर आत्महत्या कर ली। महिला के पति का कहना है कि पत्नी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। घटना को लेकर संदेह व्यक्त किया जा रहा है। आकस्मिक मृत्यु का प्रकरण दर्ज किया गया है। मृतका नेहा दिनेश रुईकर (21) सुदाम नगर, निवासी थी।

घटना वाले दिन नेहा तड़के 5 बजे के करीब घर से कहीं चली गई। आधे घंटे बाद भी वह घर नहीं लौटने पर उसकी ननद ने अपने भाई दिनेश को फोन पर जानकारी दी। दिनेश अपने काम पर निकल गया था। घर आने के बाद उसने रिश्तेदारों और परिचितों को फोन कर नेहा की खोजबीन की, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। नेहा को ढूंढते हुए जब दिनेश जब अंबाझरी तालाब पहुंचा तो वहां के मछुआरों ने बताया कि, कुछ देर पहले एक महिला ने तालाब में छलांग लगाई है। चाहकर भी वे उसे बचा नहीं सके। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। इस बीच नेहा का शव पानी की सतह पर आ गया। शव बरामद कर आवश्यक कार्रवाई की गई। शव दिनेश के सुपुर्द कर दिया गया।

चार वर्ष पहले हुआ था प्रेम विवाह

दिनेश ने बताया कि, करीब साढ़े चार वर्ष पहले उसका और नेहा का प्रेम विवाह हुआ था। शादी को लेकर दोनों परिवारों का विरोध था। शादी करने के बाद दिनेश अपने माता-पिता के मकान में अलग रहने लगा। इस बीच पंद्रह दिन पहले नेहा ने एक शिशु को जन्म दिया है। सब कुछ ठीक-ठाक चला रहा था। अचानक प्रसूति के बाद नेहा की मानसिक स्थिति में फरक पड़ा। यह बात घर के अन्य लोग भी जानते थे। इसके पहले भी नेहा एक-दो बार घर से निकल गई थी, लेकिन बाद भी वापस आ जाती थी, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ। घटना को लेकर संदेह भी व्यक्त किया जा रहा है। दिनेश की शिकायत पर प्रकरण आकस्मिक मृत्यु के तौर पर दर्ज किया गया है। जांच जारी है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद साफ होगी स्थिति

प्रकरण को लेकर संदेह होने से निरीक्षक विजय काले ने महिला पुलिस कर्मियों की मदद से शव का निरीक्षण किया। शरीर पर मारपीट और खरोंच के निशान नहीं पाए गए हैं, लेकिन पोर्स्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति साफ होने की बात कही जा रही है।