Published On : Thu, May 7th, 2015

चंद्रपुर : ‘‘मोस्ट वांटेड’’ हाजी ने खोल दी ‘‘ खाकी गैंग’’ की पोल


पुलिस विभाग में हड़कंप

सवांददाता / महेश पानसे

चंद्रपुर। 25 मामलों में रहा आरोपी ‘‘मोस्ट वांटेड’’ साल भर के बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा. पर उसने पुलिस अधिकारीयों समेत कुछ पुलिसवालों के आर्थिक व्यवहार का भांडा फोडने से पुरा पुलिस विभाग सकते मे आ गया हैं. दो पुलिस अधिकारीयों को तुरंत मुख्यालय बुला लिया गया, तथा 6 पुलिस कर्मियों का तबादला कर पहाड पर भेज दिया गया है. इन अधिकारी तथा 6 कर्मचारियों ने सालभर पुरी जानकारी देने की पोल मोस्ट वांटेड आरोपी शेख हाजी शेख सरवर ने पोलिस अधिक्षक को दे दी है. इस आरोपी के बयान के आधार पर 2 अधिकारी समवेत 6 कर्मचारियों के तबादले कर दिए है, पर गंभीर आरोपो से लुप्त आरोपी की मदद करनेवालो को बचाया जा रहा है, ऐसा जनता का आरोप है. इस कड़ी में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी शामिल होने की चर्चा है. वैसे होम डीवायएसपी भुजबल को नोटीस दे दिया गया है.

आरोपी को घुग्घुस पुलिस स्टेशन अंतर्गत नकोडा पुलिस थाने के पास स्थानिय क्राइम ब्रांच के अधिकारी टिक्कस, पीएसआई कुनकलकर ने पकड़ा जबकी, घुग्गुस पुलिस साल भर से नाकामयाब रही. घुग्गुस के  थानेदार ठाकरे तथा डी.बी.के निरीक्षक पंडीत वऱ्हाडे नाकामयाब रहे. 25 मामलो में आरोपी रहे ‘‘मोस्ट वांटेड’’ आरोपी के बयान से अधिकारी तथा कर्मचारियों का तबादला कर पुलिस विभाग अपने गुनाह पर पड़दा  डाल रही यह आरोप हो रहा हैं, जबकी इन सभी कर्मचारियों को निलंबित करने की मांग हो रही हैं.


जिन पुलिस कर्मचारीयों का पहाड पर तबादला हो चुका हैं उनमें ए.एस.आय. दौलत चालखुरे, हवालदार पदमाकर भोयर, रहूप शेख, पो.कां.विलास, भिमराव बन्सोड, विलास निमगडे का समावेश है.

अपहरण, खुन जैसे गंभीर आरोपो में फरार हाजी को आखिर स्थानिय क्राइम ब्रांच की टिम ने धार दबोचा, जबकी यह मामला घुग्गुस थाने के अंतर्गत था. आरोपी ने एस.पी.के सामने ‘‘खाकी गैंग’’ का पर्दा फाश  कर देने से जिला पुलिस प्रशासन संदेह के घेरे में आ गया हैं. इन अधिकारी तथा कर्मचारीयों का तबादला नही निलंबन चाहिए यही मांग जिले से उठ रही हैं.

Representational Pic

Representational Pic

maharastra-police_0-515×400