Published On : Sat, Mar 4th, 2017

मेट्रो कर्मियों ने बनाई ढाई किलो मीटर लंबी मानव श्रृंखला


नागपुर:
सुरक्षा के प्रति हम जितना सतर्क रहेंगे उतना अधिक समाज और राष्ट्र की उन्नती के भागीदार बनेंगे। जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सुरक्षा की बड़ी अहमियत होती है। सुरक्षा के प्रति बरती गई लापरवाही या छोटी सी गलती के गंभीर परिणाम झेलने पड़ सकते हैं। इन लापरवाहियों या गलती का खामियाजा परिवार को ही नहीं बल्कि समाज को भी भुगतना पड़ता है। यह विचार विचार महामेट्रो के प्रबंध निदेषक श्री बृजेश दीक्षित ने व्यक्त किए। वे होटल रेडिसन ब्ल्यू सभागृह में राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस के अवसर पर आयोजित आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

महाराष्ट्र मेट्रो रेल कार्पोरेशन लिमिटेड (नागपुर मेट्रो रेल परियोजना) और दि सेफ्टी कान्फिडरेशन ऑफ इंडिया के साझा प्रयासों से कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। उन्होंने कहा कि वर्धा मार्ग पर सुरक्षा के प्रति जनजागरण करने के ध्येय को लेकर मानव श्रृंखला तैयार की गई थी जिसमें करीब ढाई किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाई गई। सुरक्षा के लिए किया जानेवाला खर्च के भविष्य में बहुत अच्छे परिणाम मिलते हैं। सुरक्षा के प्रति सतर्कता ही गुणवत्ता प्रदान करती है। बृजेश दिक्षित ने टीम में हर महीने अच्छा काम करनेवालों को प्रोत्साहित करने के लिए कहा। मानव श्रृंखला द्वारा एशिया बुक रिकार्ड बनाने की जानकारी डॉ.मनोज तत्ववादी एवं निखिलेश सावरकर द्वारा प्रदान की गई है।


कार्यक्रम में दीक्षित ने मेट्रो टीम और निर्माण कार्य से जुड़े कर्मियों और अधिकारियों को सुरक्षा के प्रति तत्पर रहने की शपथ दिलाई । कार्यक्रम में संचालक- प्रकल्प महेश कुमार अग्रवाल, रोलिंग स्टॉक संचालक सुनील माथुर, वित्त संचालक शिवमाथान, रामटेककर, मार्टिन गोमरसेन, सी. कन्नन, अविनाश येमडे, श्रीकांत देशपांडे, ज्ञानेष मसे, अनिल कोकाटे को प्रंबध निदेशक के हाथों सम्मानित कर स्मृतिचिन्ह भेंट किया गया। साथ ही एफ्कान्स, आयएलएफएस, आईटीडीसीईएम आदि कंपानियों की टीमों को भी सुरक्षा के प्रति किए जानेवाले उपायों के िलए सम्मानित किया गया।