Published On : Tue, Jun 13th, 2017

नागपुर के कारोबारी मनोज जायसवाल बेटे के साथ कलकत्ता में गिरफ़्तार

Manoj Jayaswal
नागपुर:
सीबीआई ने अभिजीत ग्रुप के मनोज जायसवाल और अभिषेक जायसवाल सहित कैनरा बैंक पूर्व डीजीएम को गिरफ्तार किया है। इन लोगों को वित्‍तीय गड़बड़ी करने का आरोप है। इसमें करीब 11 हजार करोड़ रुपए की गड़बड़ी हुई थी।

290 करोड़ रुपए के धोखाधड़ी में हुई गिरफ्तारी
सीबीआई ने बैंक से 290 करोड़ रुपए की गिरफ्तारी के एक मामले में आज यह गिरफ्तारी की हैं। आरोप है कि इन लोगों ने बड़े पैमाने गड़बड़ी करने के लिए 13 कंपनियां बनाईं और फिर इन कंपनियों के नाम पर 20 बैंकों से लोन लिए गए। बाद में यह लोन एनपीए हो गए। यह पूरा घोटाला करीब 11 हजार करोड़ रुपए का है।

किन-किन की हुई गिरफ्तारी
सीबीआई के प्रवक्‍ता आर के गौर ने बताया कि आज अभिजीत ग्रुप के मनोज जायसवाल और अभिषेक जायसवाल के अलावा कैनरा बैंक के पूर्व डीजीएम टी एल पाई को गिरफ्तार किया है। इन लोगों पर कैनरा बैंक और विजया बैंक पर धोखाधड़ी करके 290 करोड़ रुपए की गड़बड़ी करने का आरोप है।

2015 में दर्ज किया था केस
सीबीआई ने यह मामला 2015 में दर्ज किया था। इस केस में आरोप था कि आरोपियों ने कैनरा बैंक को करीब 218.85 करोड़ रुपए और विजया बैंक को करीब 71.92 करोड़ रुपए नुकसान किया है।