Published On : Wed, Jan 31st, 2018

महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर कांग्रेस का आदरांजलि कार्यक्रम संपन्न


नागपुर: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर शहर के वैरायटी चौक पर नागपुर शहर कांग्रेस कमेटी आदरांजलि कार्यक्रम व जागतिक अहिंसा दिवस समिति की ओर से आयोजन किया गया था. इस दौरान प्रमुख रूप से पूर्व सांसद और केंद्रीय मंत्री विलास मुत्तेमवार मौजूद थे. इस समय नागपुर यूनिवर्सिटी के पूर्व कुलगुरु प्राचार्य हरिभाऊ केदार, समाजसेवक उमेशबाबू चौबे, ज्येष्ठ विचारवंत प्राचार्य उखड़कर,यादवराव शिरपुरकर,कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष रामगोविंद खोब्रागडे, नागपुर शहर कांग्रेस के अध्यक्ष विकास ठाकरे, कांग्रेस के ज्येष्ठ नेता बाबूराव तिड़के मौजूद थे. इस दौरान विलास मुत्तेमवार ने अपने सम्भोधन में कहा कि प्राचीन इतिहास में महाभारत से लेकर रामायण तक सत्य के लिए युद्ध हुए है. गाँधी ने सत्य का मार्ग कभी भी नहीं छोड़ा . अंग्रेजो के खिलाफ अहिंसा के मार्ग से देश को आजाद कराया .उन्होंने कभी भी सत्ता का मोह नहीं किया. जिस दिन देश में स्वतंत्रता का ध्वज फहराया जा रहा था. उसी दिन गांधीजी पश्चिम बंगाल के नवसारी में दंगे शांत करने का काम भी कर रहे थे.

इस दौरान मुत्तेमवार ने कहा कि डॉ.बाबसाहेब आंबेडकर ने इस देश को सविंधान समर्पित करते हुए कहा था कि जिस दिन इस देश को जाति और धर्म के आधार पर चलाने का प्रयास राजनेता करेंगे उस दिन जनतंत्र खतरे में होगा . आज यही परिस्थिति धर्मांध राजनेताओ की ओर से की जा रही है. लोकतंत्र को बचाने की जिम्मेदारी आम नागरिकों पर आ गयी है. और इस अन्याय के विरोध में अहिंसा के साथ लड़ने का विचार केवल गाँधी ही है.

इस कार्यक्रम में सैकड़ो की तादाद में कार्यकर्ता और लोग मौजूद थे. कार्यक्रम की शुरुवात में सचिन ढोमणे और सुरभि ढोमणे ने सुरसंग्राम वाघवृंदांन करुणामयी भजन कीर्तन किया . सुबह आठ बजे शुरू हुए इस कार्यक्रम के समापन पर आदरांजली कार्यक्रम की शुरुवात की गयी. इस समय विकास ठाकरे ने अपनी प्रास्ताविका के द्वारा गांधीजी को आदरांजलि दी.प्राचार्य हरिभाऊ केदार और उमेशबाबू चौबे ने भी इस समय भाषण दिए. हरिभाऊ केदार ने इस दौरान कहा कि आज पुरे देश में गांधी को अड़चन में डालनेवाले घृणित प्रकार सोशल मीडिया के माध्यम से व्हाट्सप पर डाले जा रहे है. नए पीढ़ी के सामने गांधी के सत्य विचार पहुंचाने की जरुरत है. उमेशबाबू चौबे ने कहा कि नागरिको ने देश की सीमा पर लड़नेवाले सैनिको की तरह सैनिक बनकर ही समाज की सेवा करनेवाले समाजसेवकों की जरुरत है. यही गांधीजी को सही श्रद्धांजलि होगी .

इस कार्यक्रम का सूत्रसंचालन डॉ.गजराज हटेवार ने किया . इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में गांधीवादी विचारधारा के लोग भी मौजूद थे. डॉ. चित्रा तुर,अनिल शर्माजी, गणेश शाहू, बंडोपंत टेंभुर्णे, दिनेश बानाबाकोडे, नगरसेवक संजय महाकालकर, संदीप सहारे, नगरसेविका हर्षला साबले, साक्षी राऊत, रश्मि धुर्वे, उज्वला बनकर, स्नेहा निकोसे, दर्शिनी धवड, प्राचार्य बबनराव तायवाड़े समेत सभी कांग्रेस के नगरसेवक मौजूद थे.