Published On : Sat, Sep 15th, 2018

एक्सक्लूसिव वीडियो : अगर नागपुर मेट्रो में जॉब चाहिए तो मराठी सीखिए – डॉ ब्रजेश दीक्षित

नागपुर: नागपुर के आधुनिक रूप को ओपन दिनों महामेट्रो का प्रोजेक्ट अंजाम दे रहा है. सड़क किनारे चल रहे परियोजना के निर्माणकार्य में लगी विशालकाय मशीनें राह से गुज़रनेवालों को इस बात की गवाह दे जाती है कि परियोजना आनेवाले समय में नागपुर के शहरीजीवन की नई परिभाषा गठने जा रही है. परियोजना निर्माण के दौरान कुछ अनापेक्षित दुर्घटनाओं को छोड़ दिया जाए तो परियोजना अब अपने पूरे होने की दिशा में काफ़ी आगे बढ़ गई है. और इन सब के पीछे महा मेट्रो के प्रबंध निदेशक ब्रजेश दीक्षित का कुशल नेतृत्व है, जो परियोजना की रफ़्तार को पटरियों पर तेज़ी के साथ बनाए हुए हैं. जैसे जैसे परियोजना रूप लेती जा रही है, पहले से अपेक्षित रोज़गार के अवसर भी पैदा होते जा रहे हैं.

क्षेत्रीय भाषा मराठी होने और परियोजना से जुड़नेवाले सेथानीय लोगों को देखते हुए, डॉ दीक्षित ने परियोजना में नौकरी की चाहत रखनेवालों के लिए मराठी भाषा के ज्ञान को अनिवार्य बताया है. डॉ दीक्षित स्थानीय लोगों को नौकरी देने के अलावा मराठी बोलने और लिखने के गुणों को अनिवार्य करार दिया है.


फ़िलहाल चल रहे मेट्रो परियोजना निर्माण स्थलों के दोनों ओर लगे गर्डरों और उससे पैदा होनेवाली समस्याओं से नागरिकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. लेकिन परियोजना पूरा करने के लिए नागरिकों से सहकार्य करने की अपील की गई है. बीच में हुई दुर्घटनाओं की वजह से कुछ दिन निर्माणकार्य अड़चनों में आ गया था. जैसा कि डॉ दीक्षित ने कहा भी था कि हर विकास कार्य के पीछे कुछ पीड़ा और संयम का होम भी होता है.

लेकिन इसके साथ ही नागपुरवासियों की चाहत के अनुरूप परियोजना तैयार की जा रही है. नागपुर टुडे ने डॉ ब्रजेश दीक्षित के साथ इस अवसर पर उनके साथ बातचीत के दौरान उनके दृष्टिकोण को जाना. जिसमें उन्होंने परियोजना के निर्माणकार्य स्थलों के पास सुगम और सुरक्षित यातायात के लिए जरूरी सुरक्षा उपायों को अपनाने पर ज़ोर दिया ताकि यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से चलती रहे. उसके अलावा परियोजना में पैदा हो रही रोज़गार की संधियों का भी उन्होंने खुलकर ज़िक्र किया.