Published On : Fri, May 29th, 2015

कोराडी : नालंदानगर बौद्ध विहार अनधिकृत नही!

Minister bwankule
कोराडी (नागपुर)। मौजा नारी, नागपुर अंतर्गत न्यू. रामदासपेठ, शास्त्री सहकारी संस्था के संचालक रवींद्र पांडुरंग दुपारे ने उनके मालिकाना प्लाट क्र. 25 (अ) कुल क्षेत्र 1200 स्क्वे. फिट प्लाट धार्मिक काम के लिए भिक्षु संघ को दान किया है. इस जगह बुद्ध विहार और मैडिटेशन (विपश्यना) सिखाई जाती है. इस क्षेेत्र में बुद्ध विहार का निर्माण शुरू है. जिससे यातायात में कोई भी परेशानी नही होती है. ऐसा होकर भी इसी परिसर के एस.ए. मानवटकर भूखंड क्र.186 नालंदानगर, नारी रोड नागपुर ने भिक्षु संघ की झूटी शिकायत विभागीय अधिकारी नासुप्र उत्तर 2 नागपुर की ओर की. इसपर से एन.आइ.टी. ने बुद्ध विहार का निर्माण रोकने का आदेश दिया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार मौजा नारी खसरा क्र. 69 के नागरिक गत 40 वर्षों से पक्के मकान बांधकर अपने परिवार के साथ रह रहे है. 100 प्रतिशत नागरिक दलित, पिछडे वर्गीय इस जगह रहते है. शहर में किसी भी प्रकार के यातायात में परेशानी नही होकर भी किसी ने द्वेष भावना से झूठी शिकायत की. इसकी जाँच न करके नासुप्र ने कार्रवाई की. इस घटना से सामाजिक जीवन सम्मान प्रशुब्ध है. नालंदानगर बौद्ध विहार में भिक्षु संघ की ओर से हर रोज पूजा और विपश्यना शुरू रहती है. नागरिकों को अच्छा ज्ञान मिलता है. लेकिन ऐसे में कुछ मनुष्यों ने शिकायत करना ये न्याय नही है. ऐसा भंते शिलपंथ का कहना है.

शिवसेना ने धार्मिक स्थल तोड़ने का किया विरोध
महानगर पालिका और नागपुर सुधार प्रन्यास की संयुक्त कार्रवाई में धार्मिक स्थल तोडना शुरू है. इसका शिवसेना ने विरोध किया है. जिस धार्मिक स्थल से यातायात में परेशानी नही होती वो तोड़े नही. इसके लिए मौलवी, भंते, पुजारी, पादरी और सामाजिक क्षेत्र के तज्ञ नागरिकों की समिति गठित करे और उनसे मत ले. इसके लिए शिवसेना के सह संपर्क प्रमुख किशोर कन्हेरे, जिला प्रमुख सतीश हरड़े, डा. रामचरण दुबे, आशीष मनपालिया, मुन्ना तिवारी आदि ने महापौर का घेराव किया.

पालकमंत्री को सौंपा ज्ञापन  
महादुला नगरपंचायत के नगर उपाध्यक्ष राजेश रंगारी, सिद्धार्थ बुद्ध संघ के पन्नालाल रंगारी, भंते शिलपथ थेरो, विजय वाघमारे ने पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले को ज्ञापन सौंपा. इस पर कोई उपाय निकालेंगे ऐसा आश्वासन पालकमंत्री ने दिया.