Published On : Mon, Mar 18th, 2019

गोंदिया से 6 युवतियों का अपहरण

मानव तस्करी से जुड़े गिरोह पर संदेह

गोंदिया। मध्यमवर्गीय और गरीब परिवारों की 6 लड़कियों के अपहरण की घटना से गोंदिया सन्न है। दो दिनों के भीतर जिले के विभिन्न थानों में कच्ची उम्र की 6 नाबालिग लड़कियों के अपहरण और अगवा किए जाने के मामले दर्ज होने से अब इस आशंका को बल मिल रहा है कि,. शिक्षित नौजवान और अच्छे नयन नक्श की युवतियों का चयन कर कोई मानव तस्करी से जुड़ा संगठित गिरोह तो इन वारदातों के पीछे नहीं? जो खाड़ी देशों में पक्की नौकरी , रोजगार और बेहतर जीवन का लालच देकर इन्हें दलालों के माध्यम से बहला-फुसलाकर उनकी मानव तस्करी तो नहीं कर रहा?

गौरतलब है कि, वर्ष 2012 में भी आमगांव तहसील में लगातार एैसी ही घटनाएं घटित हो रही थी जिसके बाद पुलिस जांच में यह सामने आया कि, गरीब परिवारों को मोटी रकम का झांसा देकर नाबालिग लड़कियों के विवाह का रिश्ता परप्रांतिय युवकों के साथ तय कर संगठित गिरोह के दलाल उन्हें दूसरे राज्य में ले जाकर विवाह करवाने के बाद लड़कियों को दिल्ली-मुंबई के रास्ते दुबई भेजने का गौरखधंधा चला रहे है, जहां रईस शेख परिवारों के घरों में बतौर नौकरानी इन्हें काम पर रखा जाता है। इस घिनौने खेल से पर्दा तब उठा जब आमगांव तहसील के ग्राम अंजोरा निवासी 16 वर्षीय अल्पवयीन युवती का सौदा 60 हजार में उसकी मां व रिश्तेदारों ने तय करते हुए किशोरी को जबरन गुजरात के राजकोट जिले के मोरबी तहसील में ले जाकर एक मंदिर में युवक के साथ जबरन विवाह करवा लिया।

पीड़ित लड़की के अंजोरा निवासी चाचा ने गोंदिया पुलिस को घटना की खबर दे दी जिसके बाद पुलिस ने दबिश देकर गुजरात के मोरबी तहसील के घर में बंधक बनी युवती को मुक्त कराया।

अब फिर एैसे ही जिले से लड़कियों के अपहरण और उनके अचानक गायब होेने के मामले लगातार सामने आ रहे है जो बेहद चिंताजनक है।
16 व 17 मार्च को जिले के अलग-अलग थानों में जो नाबालिग युवतियों के अपहरण के 6 मामले दर्ज हुए है उनमें सालेकसा तहसील के ग्राम भाड़ीपार निवासी 17 वर्षीय किशोरी जिसका 13 मार्च को किसी अज्ञात ने अपहरण कर लिया है।

शहर के रामनगर थाना अंतर्गत आने वाले भागवतटोला इलाके से एक 19 वर्षीय लड़की को अमरावती जिले का मोर्शी निवासी युवक शादी का दबाव डालकर अपने साथ भगा ले गया है। गोंदिया ग्रामीण थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम तांडा निवासी एक मजदूर परिवार की 17 वर्षीय बेटी 14 मार्च को बिना किसी को कुछ बताए अचानक घर से गायब हो गई है। रामनगर थाना अंतर्गत आने वाले मरारटोली इलाके से सटे बसंतनगर इलाके की किराना दुकान से 14 मार्च के सुबह कुरकुरे का पैकेट लेने गई 13 वर्षीय किशोरी अब तक वापस घर नहीं लौटी।

शहर थाना अंतर्गत आने वाले छोटा गोंदिया के संजयनगर के रूखमणी मंदिर के पास से 13 मार्च को एक 17 वर्षीय युवती का अपहरण कर लिया गया तथा गोविंदपुर (छोटा गोंदिया) इलाके में एक डॉक्टर के क्लीनिक के सामने से 15 वर्षीय नाबालिग किशोरी की अज्ञानता का लाभ उठाकर कोई अज्ञात अपहरणकर्ता बहला-फुसलाकर उसे अपने साथ ले गए। इन 6 बेटियों के अब तक घर नहीं लौटने से जहां परिजन चिंतित है वहीं पुलिस ने पीड़ित परिवारों की शिकायत पर अज्ञात अपहरणकर्ताओं के खिलाफ धारा 363 का जुर्म दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

आवश्यकता इस बात की है कि, जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती विनीता साहू ने जिस तरह भंडारा की पुलिस अधीक्षक रहते हुए वहां स्कूल और कॉलेजों में प्रोजेक्टर के माध्यम से जनजागृति कार्यक्रम चलाकर कच्ची उम्र की नाबालिग लड़कियों को गांव और शहर की चकाचौंध भरी जिंदगी का फर्क समझाया था अब एैसे ही रचनात्मक कार्यक्रम जिले में भी लिए जाए ताकि बच्चीयां महफूज रह सकें।


रवि आर्य