Published On : Tue, Jan 20th, 2015

अकोला : खंडेलवाल मारुती शोरूम किया सील


बकाया टैक्स व बिना अनुमति के टीन शेड हुए ध्वस्त

Khandelwal Maruti showroom sealed
अकोला। स्थानीय मारोती खंडेलवाल शोरूम के संचालक द्वारा मनपा का बकाया टैक्स अदा न किए जाने के कारण टैक्स विभाग की महिला अधीकारी माधुरी मडावी ने शोरूम तथा सव्र्हिस सेंटर को सील कर दिया. इस कार्रवाई के दौरान शोरूम संचालक द्वारा बिना अनुमति के निर्माण किए गए टीन शेड को तोडू दस्ते ने चकनाचूर कर दिया. शहर में महिला अधिकारी ने अपनी पहली कार्रवाई से बकाया टैक्स धारकों में हडकम्प मचा दिया. हीं कार्रवाई के दौरान कई नागरिक प्रशासन की इस कार्रवाई के चलते काफी खुश दिखाई दे रहे थे.

शहर के नागरिकों पर मनपा के तकरीबन 10 करोड रूपए टैक्स बकाया है. जिसे वसूल करने के लिए प्रशासन की ओर से बार-बार संपत्ति धारकों को नोटिस जारी कर अदा करने के लिए कहा जाता था. लेकिन संपत्तिधारक पार्षद समेत अन्य स्त्रोंतों से कर विभाग के अधिकारी तथा कर्मचारियों पर दबाव बनाकर टैक्स अदायगी से बचने का प्रयास करते थे. शहरवासियों द्वारा टैक्स की अदायगी समय पर न किए जाने के कारण मनपा प्रशासन को आर्थिक रूप से काफी जूझना पड रहा है. इस बीच सरकार ने कमलेश्वर में मुख्यधिकारी के रूप में नियुक्त माधुरी मडावी को अकोला मनपा में सहायक आयुक्त के रूप में नियुक्त किया. मनपा के प्रभारी आयुक्त के निर्देश पर सहायक आयुक्त मडावी को कर विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

उक्त विभाग की जिम्मेदारी मिलते ही महिला सिंघम अधिकारी ने अपने पुराने कार्यकाल की सूची तैयार की जिसके पश्चात पहले बडे बकायादारों से कर वसूल करने का निर्णय लिया. स्थानीय मारोती खंडेलवाल शोरूम के संचालक खंडेलवा की ओर से वर्ष 2006 से 2015 तक 9 लाख 36 हजार 805 रूपए बकाया कर वसूलने के लिए दल को आदेशित किया. आदेश मिलने के पश्चात कर अधीक्षक विजय पारतवार के मार्गदर्शन में मनपा के अतिक्रमण तोडू दल, नगर रचना विभाग के टापरे, दमकल दल शोरूम पहुंच गया. कार्रवाई के पूर्व सभी प्रकार की दस्तावेजों की कार्रवाई आरंभ करने के पश्चात सहायक आयुक्त की उपस्थिती में शोरूम तथा सर्विस सेंटर को सील लगाने की कार्रवाई की. कार्रवाई के पश्चात नगर रचना विभाग के टापरे की निशान देही पर बिना अनुमति के शोरूम के बाहर बनाए गए टीन शेड को दल ने चकनाचूर कर दिया. वहीं सर्विस सेंटर के पीछे बनाए गए पानी निकासी को गजराज की सहायता से उखाड दिया. उक्त कार्रवाई सहायक आयुक्त माधुरी महावी के आदेश पर कर अधीक्षक विजय पारतवार के मार्गदर्शन में सहायक कर अधीक्षक नंदकिशोर उजवणे, उदय ठाकुर, भीमसिंग ठाकुर, सिद्धार्थ सिरसाट, अतिक्रमण दस्ता प्रमुख विष्णु डोंगरे, प्रविण मिश्रा, संजय थोरात, विजय बडोणे, एड. प्रविण इंगोले, अब्दुल हुई, विनोद वानखडे, तेजराव बंसोड, सुनील गरड, रूपेश इंगले, योगेश माने समेत दलकल विभाग के कर्मचारियों ने अंजाम दिया.

9 लाख 36 हजार रूपए थे बकाया
कर अधीक्षक द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार संपत्तिधारक शारदादेवी वसंतकुमार खंडेलवाल की ओर से वर्ष 2006 से 2014-15 तक 3 लाख 95 हजारू रूपये बकाया थे. जबकि वसंतकुमार हिरालाल खंडेलवाल की ओर वर्ष 2006 से 2014-15 तक 5 लाख 51 हजार 805 रूपए समेत 9 लाख 36 हजार 805 रूपए बकाया थे. उक्त राशि का भुगतान करने के लिए प्रशासन की ओर से कई बार नोटिस जारी की गई थी किंतु संपत्तिधारक ने कर का भुगतान नहीं किया. जिससे मनपा प्रशासन की ओर से उक्त कार्रवाई को अंजाम दिया गया.

Khandelwal Maruti showroom sealed  (1)
कार्रवाई का नागरिकों ने किया समर्थन

कार्रवाई के दौरान उपस्थित नागरिकों ने प्रशासन की ओर से की जा रही कार्रवाई को समर्थन दिया. नागरिकों का कहना था कि मनपा के अधिकारियों द्वारा पहले बडे बकायादारों पर कार्रवाई कर सभी को संदेश दे रही है कि कार्रवाई के दौरान किसी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जायेगा. शहर के सभी बकायदार अपनी ओर बकाया राशि को अदा कर प्रशासन की कटु कार्रवाई को रोक सकते है. मारुती खंडेलवाल शोरूम पर हुई कार्रवाई के दौरान कहा कि जब शहर के इतने बडे व्यवसायी टैक्स का भुगतान नही करते है तो मनपा के पास विकास निधि कहां से संग्रहित कर पायेगी.

माधुरी मडावी को देखने उमडी भीड
मनपा प्रशासन द्वारा टैक्स विभाग की जिम्मेदारी माधुरी मडावी को सौंपी गई है. इस बात की जानकारी शहरवासियों को मिलने पर उनका मत था कि अन्य महिला अधिकारियों की तरह यह अधिकारी भी समय व्यतीत करेंगी किंतु सहायक उपायुक्त माधुरी मडावी ने नागरिकों की उम्मीद के विपरित अपनी पहली कार्रवाई को धमाकेदार रूप से अंजाम देते ही उनकी कार्रवाई का जिसे भी जानकारी मिले वह शहर की महिला सिंघम अधिकारी को देखने के लिए खंडेलवाल शोरूम पर उमड पडा था. जिससे खंडेलवाल शोरूम के पास तमाशीबनों की भीड लग गई थी.