Published On : Thu, Jul 27th, 2017

बिहार में JDU-BJP सरकार, छठी बार CM बने नीतीश, सुशील मोदी बने डिप्टी CM

बिहार की राजनीति में नए युग का सूत्रपात हो गया है। जेडीयू के मुखिया नीतीश कुमार ने आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव को झटका देते हुए बीजेपी के साथ मिलकर बिहार में नई सरकार बना ली है। नीतीश कुमार ने राजभवन पहुंचकर रिकॉर्ड छठी बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। नीतीश कुमार के तुरंत बाद ही सुशील मोदी ने बिहार के उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इस नई सरकार में जेडीयू और बीजेपी के 13-13 मंत्री होंगे, जो नई सरकार द्वारा विश्वासमत हासिल कर लेने के बाद शपथ ग्रहण करेंगे।

सुशील कुमार मोदी ने नीतीश कुमार के तुरंत बाद उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वो पिछली बीजेरी-जेडीयू सरकार में भी मुख्यमंत्री थे।

इससे पहले, नीतीश कुमार ने बड़ा धमाका करते हुए बुधवार रात इस्तीफा दिया, तो बुधवार रात ही ये साफ हो गया कि अबतक बिहार विधानमभा में विपक्ष की हैसियत में रही बीजेपी तुरंत ही सत्तापक्ष में शामिल हो गई और नीतीश कुमार को समर्थन देते हुए सरकार बनाने की घोषणा भी कर दी। वहीं, राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने नीतीश कुमार को सरकार बनाने का न्यौता दिया।

बुधवार रात सरकार बनाने के सिलसिले में भाजपा विधायक नीतीश के निवास गए जहां नीतीश को बतौर मुख्यमंत्री और सुशील कुमार मोदी को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने का फैसला किया गया। भाजपा ने नीतीश को नई सरकार के गठन में समर्थन देने संबंधी पत्र देर रात राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी को सौंप दिया। मंत्रिमंडल में जदयू और बीजेपी के 13-13 मंत्री शामिल होंगे, जो नई सरकार के विश्वासमत पा जाने के बाद शपथ लेंगे।

बुधवार रात अपने इस्तीफे का ठीकरा राजद नेता लालू यादव पर फोड़ते हुए नीतीश ने कहा कि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के मुद्दे पर लालू कुछ करना नहीं चाहते थे। तेजस्वी पर भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर महागठबंधन में लंबे समय से खींचतान चल रही थी।

बुधवार देर रात प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद तिवारी और वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने राजभवन जाकर पार्टी विधायकों के समर्थन का पत्र राज्यपाल को सौंप दिया। बाद में मोदी ने पत्रकारों को बताया कि भाजपा विधायकों ने नीतीश के निवास स्थान एक अणे मार्ग पर जाकर उनसे मुलाकात की जहां नीतीश ने नए गठबंधन के विधायकों के लिए रात्रिभोज का आयोजन किया था। इसके बाद जदयू और राजग घटक दलों के विधायकों ने दोबारा राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर आज सरकार भी बना ली।