Published On : Tue, Jul 17th, 2018

इतवारी के व्यापारियों में दहशत

crime

Nagpur: इतवारी परिसर में चल रही गतिविधियों से व्यापारी दहशत में है, लेकिन उनका कहना है कि पुलिस कोई सख्त कदम नहीं उठा रही है. इससे कभी भी बड़ी अनहोनी हो सकती है. पुलिस ने शनिवार रात 2 युवकों को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया, लेकिन उन पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की. उनके साथ जो नाबालिग था उसे भी छोड़ दिया गया. 2 अन्य वहां से फरार होने में कामयाब हो गए.

व्यवसायी संजय खुले ने बताया कि शनिवार की शाम 7 से 8 बजे के बीच 2 मोटरसाइकिलों पर सवार 5 नकाबपोश युवक परिसर में दाखिल हुए. टांगा स्टैंड से धर्मकांटा के बीच कई चक्कर काटे. बाद में 1 लड़का नाईक गली में लॉकर के पास और दूसरा निकालस मंदिर रोड पर खड़ा होकर निगरानी करने लगा. व्यापारियों को उनकी गतिविधि संदेहास्पद लगी. इसीलिए तहसील पुलिस को फोन कर जानकारी दी गई. इसी दौरान युवक वहां से चले गए. 15 मिनट बाद दोबारा युवक परिसर में दाखिल हुए. तब तक तहसील पुलिस वहां पहुंच चुकी थी.

1 बाइक पर सवार 3 युवकों को पुलिस ने पकड़ लिया, जबकि अन्य 2 भाग निकले. तलाशी में उनके पास हथियार बरामद हुए. उन्हें थाने ले जाया गया. एक लड़का नाबालिग था और पुलिस ने उसे तुरंत छोड़ दिया. अन्य 2 युवकों में इंदोरा निवासी ब्रिजेश परिक्षित खोब्रागड़े (18) और अशोक चौक निवासी रोहित रामबहादुर यादव (20) का समावेश है. व्यापारियों को संदेह है कि आरोपी लूट की बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी में थे. लगातार लॉकर के आस-पास निगरानी कर रहे थे.

इसी दौरान व्यापारी अपने प्रतिष्ठान बंद करके पैसा और जेवरात लॉकर में रखने जाते हैं. इस संबंध में व्यापारियों ने तहसील पुलिस से जानकारी भी मांगी, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब देने को तैयार नहीं है.

व्यापारियों का कहना है कि सख्त कार्रवाई नहीं हुई तो किसी दिन व्यापारियों की जान भी जा सकती है. इतवारी परिसर में इस तरह कोई गैंग हथियार लेकर घूम रही है. खुद व्यापारी पुलिस को जानकारी दे रहे हैं, लेकिन कोई कार्रवाई न किया जाना समझ से परे हैं.