Published On : Sat, Nov 18th, 2017

कागजी घोड़े दौड़ा रहे विपक्ष नेता तानाजी

Congress Leader Tanaji Wanve
नागपुर: मनपा में विपक्ष के नेता तानाजी वनवे अपने पद की आड़ में अपने प्रस्तावों को मंजूरी दिलवाने में लीन होने का आरोप उनके ही गुट के नगरसेवक इन दिनों लगा रहे हैं। ऐसे में अपने पक्ष के नगरसेवकों के महत्वपूर्ण प्रस्तावों को प्रशासन से न्याय दिलवाने के बजाय उन्हें उनके हाल पर छोड़ दिया है। इस अड़चन में उन्हें सहयोग करने के बजाय ठेकेदारों के बकाया भुगतान के लिए वे गुहार लगा रहे हैं जिसकी सर्वत्र भर्त्सना की जा रही है।

कांग्रेस के कुछ नगरसेवकों को छोड़ दिया जाए तो शेष नगरसेवक अपने अटके प्रस्तावों को मंजूरी दिलवाने के लिए सत्तापक्ष के समक्ष मिन्नतें करते दिख जाएंगे। इनसे दाल नहीं गली तो अधिकारियों के कक्ष के बाहर या भीतर नज़र आ जाएंगे।

कांगेस के नगरसेवकों की इतनी दुर्दशा आज के पहले कभी नहीं हुई। इस कार्यकाल में विपक्ष से सबसे ज्यादा सिफारिशों को सत्तापक्ष ने वनवे को दी। बावजूद इसके सत्तापक्ष के मंसूबे पर पानी फेरने का काम करने वाले विपक्ष नेता की भाजपा नगरसेवकों ने निंदा की। उनका कहना था कि अपने पक्ष के ननगरसेवकों की समस्या निवारण करने वाले विपक्ष नेता कनक को काली सूची में डालने की मांग को प्रचारित कर लाभ उठाना चाह रहे हैं।

ठेकेदारों के पक्ष में गुहार लगाने के बजाय अपने पक्ष के नगरसेवकों को एकजुट कर उनकी समस्या निवारण करवाते तो पार्टी हित मे सकारात्मक संदेश गया होता। विपक्ष नेता आमसभा में भी कोई ठोस मुद्दा नहीं उठाते। पहले विकास ठाकरे जब विपक्ष नेता थे तो प्रशासन और सत्ताधारी कम से कम उन्हें तत्काल तवज्जो तो देते थे।