Published On : Sat, Jul 1st, 2017

आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी का फाइनल मुक़ाबला फिक्स! होनी चाहिए जाँच – रामदास आठवले

Advertisement

Ramdas Athawale
नागपुर:
अपने अजीबो-ग़रीब बयानों के लिए पहचानें जाने वाले केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले फिर एक बार नया बयान देकर सुर्खियों में आ गए है। नागपुर में पत्रकारों को संबोधित करते हुए आठवले ने भारत-पाकिस्‍तान के बीच आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 में खेला गया फाइनल मुकाबला ‘फिक्‍स’ होने की आशंका जताई है। सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता राज्‍य मंत्री ने इस मैच की जांच कराने जाने की मांग भी उठाई है। इतना ही नहीं उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम और अन्य खेलों में दलित और आदिवासियों के लिए 25 फ़ीसदी आरक्षण की माँग भी की है।

पाकिस्‍तान ने भारत को फाइनल में 180 रनों से मात देकर पहली बार चैम्पियंस ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया था।आठवले के मुताबिक ”जिस तरह भारत चैम्पियंस ट्रॉफी फाइनल में पाकिस्‍तान से हारा वह संदेहास्पद है जबकि उसे इसी सीरीज के एक मैच में हार का मुँह देखना पड़ा। आखिर कैसे इतनी मजबूत टीम अपने चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्‍तान के खिलाफ फाइनल में 180 रनों से हार सकती है? इसलिए इसकी जाँच होनी चाहिए।

गोवंश हत्या की जगह गो-हत्या बंदी का बने कानून
देश भर में गोहत्या को लेकर विवाद शुरू है इस बीच केंद्रीय सामजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले ने क़ानून में बदलाव कर गोवंश हत्या की जगह गोहत्या बंदी नाम से कानून बनाने की माँग उठाई है। उन्होंने कहाँ की गोरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी ठीक नहीं है ऐसे लोगों पर सरकार को सख़्त कार्रवाई करनी चाहिए। अलग विदर्भ राज्य को अपना समर्थन देते हुए उन्होंने जल्द ही प्रधानमंत्री से मिलकर उनसे इस मुद्दे पर चर्चा करने की जानकारी दी। आगामी 25 अगस्त को विदर्भ के लिए होने वाले आंदोलन में उनकी पार्टी के शामिल होने की जानकारी भी उन्होंने दी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement