Published On : Thu, Apr 29th, 2021

पारशिवनी के इनायत अली लॉकडाउन में पिछले एक वर्ष से गरीब मजदूरों की कर रहे मदद

पारशिवनी – पिछले वर्ष देश में कोरोना की शुरुआत हुई थी. कोरोना के कारण देश मे लॉकडाउन लग चुका था. कई कारखाने , संस्थान बंद होने के कारण लोगों का जीना मुश्किल हो गया था, रोजगार छीन जाने की वजह से गरीब लोगों को और मजदूरों को दो वक्त की रोटी भी नसीब नही हो रही थी. हजारों किलोमीटर मजदूर पैदल ही अपने अपने गांवो को लौट रहे थे. ऐसे समय कई निस्वार्थ लोगों ने इन लोगों की मदद की और अभी भी कर रहे है. ऐसे ही पारशिवनी के रहनेवाले इनायत शौकत अली सय्यद का गांव में ही टू-व्हीलर का गैराज है. उनका ईश्वर और मानवता पर सबसे ज्यादा विश्वास है. गरीब मजदूरों को पैदल ही जाते हुए शौकत का दिल पसीज गया और उन्होंने मजदूरों और गरीब लोगों की मदद करने की ठानी.

उन्होंने अपने मित्र अमजद पठान, राजू राका, मनोज चोरडिया, मोनू पठान, अक्षय गोतमारे से चर्चा की और सभी की सहमति से पारशिवनी रोड के आमडी फाटे के पास जरूरतमंद मजदूरों को राशन के पैकेट, खाना , कपड़े ,पानी की बोतलें और कुछ लोगों को जरूरत के लिए पैसे भी दिए. पिछले एक वर्ष से इनायत और उनकी टीम ऐसे मजदूरों की मदद कर रहे है.

सैकड़ो किलोमीटर पैदल चलकर आए इन मजदूरों की पारशिवनी गांव में ही अमन सभागृह में रहने की व्यवस्था भी की. इस दौरान ऐसे भी कई बुजुर्ग व्यक्ति और गर्भवती महिलाएं और छोटे बच्चे थे, जो आगे का सफर नही कर सकते थे, ऐसे लोगों को फोर-व्हीलर से बालाघाट, सिवनी व मध्यप्रदेश की सीमा तक छोड़कर दिया गया.

इनायत अली व उनके मित्र अमजद पठान, राजू राका,
मनोज चोरडिया, मोनू पठान,अक्षय गोटमारे ने मानवता ही सच्चा धर्म है, यह दिखला दिया है. इनायत और उनके दोस्तों की यह टीम आज भी जरूरतमंद लोगों की और गरीबों की मदद कर रही है.