Published On : Thu, Mar 23rd, 2017

एम्प्रेस मॉल में हेलमेट सिक्योरिटी के नाम पर उगाही


नागपुर:
गांधीसागर तालाब स्थित एम्प्रेस मॉल हेलमेट पहनकर आने वाले दुपहिया वाहन चालकों से अवैध उगाही कर रहा है। मॉल में आनेवाले लोगों से दुपहिया वाहनों की पार्किंग का शुल्क 15 रुपए वसूला जाता है। जबकि हेलमेट के लिए अलग से रसीद देकर 5 रुपये वसूला जा रहा है। बाकायदा तारीख के साथ यह रसीद वाहनचालकों को दी जा रही है।

दिनभर एम्प्रेस मॉल में सैकड़ों दुपहिया वाहन आते हैं। जिससे यह अनुमान लगाया जा सकता है कि वाहनों के शुल्क के साथ ही हेलमेट से भी कमाई का रास्ता इन्होंने आखिरकार खोज ही लिया है। अमूमन गाड़ी पार्किंग में लगाने के बाद वाहनचालक समयानुसार हेलमेट को लॉक लगाते हैं, गाड़ी के हैंडल पर लटकाते हैं या फिर अपने साथ में ही लेकर जाते हैं।

अगर दुपहिया पार्किंग में लगी है और वहां पर स्टैंड वाले बैठे हैं तो वाहनचालक उनकी जिम्मेदारी पर अपना हेलमेट छोड़कर जाते हैं। पार्किंग में दुपहिया वाहन लगाने के बाद अगर एम्प्रेस मॉल में जगह है तो वहां पर पार्किंग करने के बाद मुफ्त में हेलमेट के लिए व्यवस्था की जानी चाहिए थी। जिस तरह से एम्प्रेस मॉल में गारंटी के साथ हेलमेट सुरक्षा के लिए पैसे लिए जा रहे हैं इससे तो यही लगता है कि पैसे कमाने के लिए लोग रास्ता खोज ही लेते हैं।