Published On : Wed, Aug 2nd, 2017

आराधना पर जीएसटी की मार

Representational Pic


नागपुर:
जीएसटी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) के चलते जहां व्यापारियों में खिंचातनी बढ़ गई है। वहीं अब जीएसटी के राज में आराधना भी महंगी साबित हो रही है। त्योहारी सीजन अभी शुरू होने की राह में है। इससे पहले जीएसटी के चलते अगरबत्ती, मोमबत्ती, कपूर, दिया बाती, धूप, लोहबान, इत्र से लेकर अष्टगंध तक महंगे हो गए हैं। इससे इस त्योहारी सीजन में पूजा सामग्रियां महंगी हो गई हैं। ज़ाहिर है ऐसे में भक्तों के लिए यह परीक्षा की घड़ी होगी कि वह महंगाई के दौर में खर्चों पर कटौती करे या अपने भगवान को प्रसन्न रखे।

नागपुर के महल स्थित गांधी गेट के पास अगरबत्ती और पूजा सामग्रियों का थोक बाजार है। त्योहारी सीजन में यहां नई रौनक रहती है। लेकिन इस बार ग्राहकों की कमी ना रहते हुए भी बिक्री में कमी देखी जा रही है। विक्रेता बताते हैं कि पहले अगरबत्ती पर कोई टैक्स नहीं लगता था, अब 5 प्रतिशत जीएसटी लगने से माल महंगा हो गया है। पहले ग्राहकी में भले ही देखने पर कमी ना दिखे लेकिन ख़रीदी में जरूर फर्क आया है।

अगरबत्ती के साथ कपूर पर 25 प्रतिशत, दीप की बाती पर 5 प्रतिशत, धूप पर 5 व अन्य पूजा सामग्रियों पर भी जीएसटी के लगने से महंगाई की मार है। आनेवाले समय में जन्माष्टमी, गणेश जयंति, नवरात्र जैसे त्योहारी सीजन शुरू होगा। लेकिन जीएसटी से आराधना अभी और महंगी हो जाएगी।