Published On : Fri, Dec 21st, 2018

आर्थिक रूप से कमजोर होनहार 20 विद्यार्थियों को विदेशों में पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप दे रही सरकार

31 दिसंबर तक आवेदन करने की नागपुर यूनिवर्सिटी ने दी सुचना

नागपुर: आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों को विदेश में उच्च शिक्षा हासिल हो. इस उद्देश्य को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने ‘ होनहार छात्र छात्राओ के लिए विदेश में स्कॉलरशिप ‘ की योजना शैक्षणिक सत्र 2018-19 से चलाने का निर्णय लिया है.

इसमें राज्य के होनहार विद्यार्थियों को ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन, पीएचडी के लिए, टीएचई (टाइम्स हायर एजुकेशन) या क्यूएस (कैक़ुरैली सायमंड्स) रैंकिंग 200 के भीतर के विदेशी शैक्षणिक संस्थाओ में प्रवेश लेने के लिए हर वर्ष 20 विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप मंजूर करने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है. यह योजना ओपन ग्रुप के विद्यार्थियों के लिए भी शुरू रहेगी . जिन पिछड़े वर्ग के विद्यार्थियों ने इस स्वरुप की विदेशो में पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप लागू की है ऐसे विद्यार्थी सम्बन्धित विभाग में आवेदन करे. इसमें ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन कर रहे 10 विद्यार्थियों को और पीएचडी के लिए 10 विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप दी जाएगी.

इस स्कॉलरशिप में कुल मिलाकर 30 प्रतिशत जगहों पर छात्राओ का चुनाव किया जाएगा. इस स्कॉलरशिप के लिए तंत्रशिक्षा संचालनालय की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा दी गई है.

इस स्कॉलरशिप के अंतर्गत साइंस, कॉमर्स, आर्ट्स पाठ्यक्रमों के लिए कम प्रतिसाद मिलने के कारण योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की तारीख 31 दिसंबर 2018 तक बढ़ाई गई है. इस योजना के संबंध में नियम, पात्रता, मिलनेवाले लाभ की जानकारी वेबसाइट में दी गई है. विद्यार्थी इस योजना का लाभ ले ऐसी अपील नागपुर यूनिवर्सिटी और राज्य सरकार की ओर से की गई है.