Published On : Thu, Dec 18th, 2014

गोंदिया रेलवे स्टेशन को मध्य रेलवे जोन से जोड़ा जाए

Advertisement

railway-station-600x300
गोंदिया। डेली रेलवे मूवर्स असोसिएशन(ड्रामा) ने रेलमंत्री को पत्र लिखा गया है की, अखबारों से ज्ञात हुआ कि आपके मंत्रालय द्वारा देश में रेलवे के 16 जोनल विभागों को घटाकर 9 किया जा रहा है. आपके इस दूरदर्शितापूर्वक निर्णय से रेलवे और अधिक सक्षम होगी और प्रशासन कार्यकुशल होगा. साथ ही साथ प्रशासकीय खर्चों पर भारी अंकुश लगेगा.

इस क्षेत्र के रेल यात्रियों को निवेदन है कि, नये जोन के पुर्नगठन के समय दक्षिण पूर्ण मध्य रेलवे बिलासपुर जोन में स्थित नागपुर डिवीजन की जो की राजनांदगांव से इतवारी तक एवं हाऊबाग से चांदा फोर्ट स्टेशनों तक फैला है इस डिवीजन को मुंबई मुख्यालय वाले जोन से जोड़ा जाना चाहिए. इसे कलकत्ता या बिलासपुर जोन का पुरा ध्यान छत्तीसगढ़ के विकास पर लगा है.

वर्तमान में महाराष्ट्र को पूर्वी हिस्से के दो जिले मध्य रेल मुंबई के अंतर्गत नहीं आने से यात्री गाड़ियों के आवागमन में दो रेलवे  समन्वय का भारी अभाव दिखता है और उनकी सीमा पार करने में गोंदिया से नागपुर 130 कि.मी. यात्रा को 3-3 घंटे लग रहे है. उचित होगा कि मुंबई से लेकर गोंदिया जिला एक ही जोनल रेलवे में रहे.

Advertisement

गोंदिया-भंडारा महाराष्ट्र के रेलयात्रियों की संख्या छत्तीसगढ़-कोलकाता की ओर कम है जबकि मुंबई-दिल्ली-पूर्ण-अहमदाबाद-चेन्नई-बंगलौर की तरफ ज्यादा है. वर्तमान में बिलासपुर जोन ज्यादा यात्री गाड़िया पूर्व की ओर चलाती है उसका फायदा महाराष्ट्र के इन दो जिलों को नहीं मिल पाता है. इस जोन से 15 वर्षो में मुंबई एक भी रेलगाड़ी नहीं शुरू की गयी है, जबकि हम महाराष्ट्र की जनता को ईलाज, व्यापार, मंत्रालय हेतु मुंबई जाना पडता है.

Advertisement
Advertisement

उपरोक्त सभी कारणों से नम्र निवेदन है की जोन के गठन में नागपुर डिवीजन द.पु.म.रेलवे को बिलासपुर जोन से निकालकर मुंबई जोन दिया जाए. नागपुर स्थित मध्य रेलवे के डिवीजन कार्यालय में ही द.पु.म.रेलवे नागपुर का डिवीजनल कार्यालय समाहित कर दिया जाए ताकि समुचा महाराष्ट्र पश्चिम से पूर्व तक एक ही जोन में समा जाये उससे ट्रेनों के प्रारंभ करने परिचालन करने में पिछड़े हुए पूर्व विदर्भ का भी भला होगा.

महाराष्ट्र के गडचिरोली, चंद्रपुर, भंडारा, गोंदिया, नागपुर जिले के हिस्सों में चलने वाली रेलो के स्टेशन का प्रशासन मुंबई जोन में होना चाहिए. वर्तमान में छत्तीसगढ़ में स्थित बिलासपुर जोन ने बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग, गेवरा रोड, कोरबा विगत 15 वर्षो में सेकड़ो यात्री गाड़िया प्रारंभ की पर गोंदिया-भंडारा, इतवारी, चांदा फोर्ट से कुछ भी नहीं किया.

आपसे निवेदन है की आगामी पुर्नगठन में रेलवे के उस जोन से गोंदिया-भंडारा जिलो के रेलवे स्टेशनो को जोड़ दिया जाए जिसका मुख्यालय मुंबई रहे. पत्र ड्रामा अध्यक्ष गोपाल अग्रवाल एवं सचिव अशोक शर्मा की हस्ताक्षर से भेजा गया है जिसकी प्रतिलीपी हंसराज अहीर,राजमंत्री भारत सरकार, नाना पटोले, सांसद, अशोक नेते, सांसद को भेजी गयी है. रेलवे कमेटी के सदस्य प्रो. मेहबूब हिरानी, गोकुल कटरे, नीलम हलमारे, जितेंद्र परमार, दिलीप रोचवानी, साचन वाघवानी, प्रकाश तिड़के शीघ्र ही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को इस बाबद प्रतिवेदन देंगे.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
 

Advertisement