Published On : Fri, Mar 27th, 2020

गोंदिया: पुलिस ने देशी-विदेशी शराब पकड़ी , 2 गिरफ्तार

क्या शराब पीने से काबू में होता है कोरोना वायरस ? विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) ने खुलासा किया है कि शराब पीने से नहीं कम होता वायरस का असर ? बावजूद इसके कोरोना की दहशत के कारण लोग इंटरनेट से फैलने वाले अफवाहों को सच मान रहे हैं और इसी अवसर का लाभ अब गोंदिया जिले में सक्रिय कुछ अवैध शराब विक्रेता उठा रहे हैं.

यहां बता दें कि गोंदिया जिले में धारा 144 लागू करते हुए सभी लाइसेंसी शराब दुकानें 22 मार्च सुबह 6 बजे से अगले आदेश तक बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं जिससे परमिट रूम , बीयर शॉपी , वाइन शॉप, देशी शराब की दुकाने ,ताड़ी भट्टी , बार एंड रेस्टोरेंट यह बंद है। कमोबेश इसी का नतीजा है कि अब शराब के शौकीन अपनी लत पूरी करने के लिए अवैध शराब अड्डों का रुख कर रहे रहे है।

Advertisement

LCB ने मारा छापा , 53 हजार की शराब पकड़ी

Advertisement

स्थानिक अपराध शाखा दल इसे 25 मार्च को खबरी ने इस बात की गोपनीय जानकारी दी कि गोंदिया तहसील के ग्राम तांडा के एक मकान में अवैध देशी- विदेशी शराब की बिक्री की जा रही है और धारा 144 का उल्लंघन करते हुए बड़ी संख्या में ग्राहकों की यहां भीड़ लगी हुई है ।तत्काल पुलिस एक्शन में आयी और सहायक पुलिस निरीक्षक रमेश गर्जे , उपनिरीक्षक गोपाल कापगते , लिलेंद्र भैंस , पुलिस हवलदार राजेश बढ़े , मधुकर कृपाण, पुलिस नायक रेखलाल गौतम , पुलिस कांस्टेबल अजय राहंगडाले , महिला सिपाही सुजाता गेडाम की टीम ग्राम तांडा पहुंची और आरोपी उत्तम खांडेकर के घर पर दबिश देते हुए उसे तथा उसके कामगार प्रवीण डोंगरे इसे रंगेहाथों शराब बेचते हुए धर दबोचा तथा आरोपी के घर की तलाशी लेने पर बाथरूम में रखे दो प्लास्टिक बोरी में भरे 4 लगेज बैगों में देशी-विदेशी शराब तथा हायवर्ड बीयर की 12 बोतल पाई गई अन्य बैग से फिरकी संतरा , चीता ब्रांड के लेबल लगी 90 एमएल भरे 700 देशी शराब के पौवे , सेवन स्टार पंच के लेबल लगी 90 एमएल देसी शराब भरे 585 पव्वे, ऑफिसर चॉइस ब्लू लेबल लगी 180 ml भरी 100 बोतल इस तरह 53 हजार 350 रूपयों का माल पंच-गवाह के समक्ष बरामद किया गया

तथा आरोपियों उत्तम खांडेकर तथा प्रवीण डोंगरे के खिलाफ ग्रामीण थाने में धारा 65 (ई) 83 महाराष्ट्र दारूबंदी अधिनियम 1988 ,269, 270 भारतीय दंड विधान संहिता 1860 सहकलम 51 (ब) आपती व्यवस्थापन कायदा 2005 के तहत मामला पंजीबद्ध करते हुए दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है।

रवि आर्य

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement