Published On : Wed, Sep 15th, 2021
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

गोंदिया: हाईवे के ‘लुटेरा गैंग’ के 5 बदमाशों को पुलिस ने दबोचा

Advertisement

लूटा गया ट्रक, वारदात में इस्तेमाल कार , लूटी गई 3 मोबाइल सहित 22 लाख का साहित्य बरामद

गोंदिया: हाईवे पर बढ़ती लूटपाट की घटनाओं के बाद जिला पुलिस हरकत में आई और देवरी थाना क्षेत्र में डकैती तथा लूट के मकसद से आए , लुटेरा गैंग के 5 बदमाशों को पुलिस ने पीछा करते हुए छत्तीसगढ़ के चिचोला बॉर्डर निकट धर दबोचा। पुलिस ने 2 घंटे के भीतर तत्काल कार्रवाई करते हुए लुटेरों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है । आरोपियों के पास से हाईवे पर लूटा गया ट्रक , वारदात में इस्तेमाल विस्टा कार , लूटी गई 3 मोबाइल इस तरह 22 लाख 23 हजार रुपए का साहित्य बरामद हुआ है।

Advertisement

पुलिस के मुताबिक वाक्या कुछ यूं है कि, 14 सितंबर मंगलवार को फिर्यादी इरशाद मो. फारूख कुरेशी (28 रा. सिवनी म.प्र) यह अपने कब्जे के ट्रक क्र. एम.एच. 40/बी.जी. 6617 में 2 मजदूरों के साथ नागपुर से गड़चिरोली जिले के ग्राम बोरी की ओर जा रहा था।

शाम 4 बजे राष्ट्रीय महामार्ग क्र. 6 पर देवरी स्थित मिलन ढाबे के निकट पहुंचने पर एक सफेद रंग की विस्टा कार क्र. सी.जी. 07/बी.के. 5180 यह ट्रक के आड़े आ गई और ट्रक चालक को वाहन रोकने का इशारा किया।

जैसे ही ट्रक रूका, उक्त कार से एक बदमाश उतरा और ट्रक के कैबिन में चढ़कर चाबी निकाल ली और फिर्यादी ड्राइवर को नीचे उतरने के लिए कहा।

फिर्यादी ने जब पूछा- तूम लोग कौन हो? मेरी गाड़ी क्यों रोके हो? तो उक्त व्यक्ति ने हम गाड़ी सीझ करने वाले है, इस ट्रक पर फाइनेंस कंपनी की लोन किश्त बकाया है।

परंतु गाड़ी की फायनंस इंस्टालमेंट 5 सितंबर 2021 को भरे जाने से फिर्यादी ट्रक चालक को संदेह हुआ और उसने तुरंत ट्रक मालक को फोन लगाना चाहा लेकिन उक्त बदमाश ने मोबाइल छिनते हुए मारपीट शुरू कर दी , ट्रक में सवार दो अन्य मजदूरों के साथ मारपीट कर उनके मोबाइल भी छिन लिए।

तत्पश्‍चात एक बदमाश ट्रक की स्टेरिंग सीट पर जा बैठा और ट्रक को अपने कब्जे में ले लिया और मजदूरों सहित छत्तीसगढ़ दिशा की ओर निकला तथा फिर्यादी को अन्य आरोपियों ने टाटा विस्टा कार में जबरन बिठाते हुए ट्रक के पीछे निकले।

इधर ट्रक मालक बार-बार ट्रक चालक और मजदूरों को फोन करने लगा लेकिन कुछ देर बाद सभी के मोबाइल स्वीच ऑफ हो जाने से उसे संदेह हुआ जिसपर उसने देवरी में रहनेवाले भाई नियाज कुरेशी से संपर्क किया तत्पश्‍चात देवरी पुलिस को सूचना दी गई।

जानकारी मिलते ही पुलिस ने तत्काल एक्शन लिया और थाना प्रभारी सिंगनजुड़े ने मामले से जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे को अवगत कराया।
जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देश व मार्गदर्शन सूचना अनुसार जरा भी देर न करते हुए ट्रक की खोजबीन शुरू की गई।

एक टीम छत्तीसगढ़ की ओर रवाना हुई इस बीच छत्तीसगढ़ के चिचोला गांव में बॉर्डर के निकट उक्त नंबर का ट्रक दिखायी दिया, उसे रूकने का इशारा किया गया लेकिन पुलिस को देखकर आरोपियों ने वाहन की गति तेज कर दी, साथ ही ट्रक के साथ चल रहे विस्टा कार पर संदेह होने पर पुलिस ने ट्रक और विस्टा कार को बड़ी मश्कत के बाद रोकते हुए ढाबे पर लाया गया जिसके बाद चिचोला पुलिस स्टेशन को सूचना देने के बाद स्थानीय पुलिस की मदद से ट्रक व कार और उसमें मौजूद 5 आरोपियों को हिरासत में लेकर 15 सिंत. को देवरी थाना लाया गया।

इस संदर्भ में फिर्यादी इरशाद मो. फारूख कुरेशी (28 रा. सिवनी म.प्र.) की शिकायत पर देवरी थाने में धारा 395, 365 के तहत मामला दर्ज करते हुए आरोपी शुभम (29), विशाल (22), रोशनसिंग (25), करणसिंग (25), लुकेश सिंग (24 सभी रहवासी भिलाई छ.ग) को गिरफ्तार किया गया है तथा लूटा गया ट्रक, मोबाइल और अपराध को अंजाम देने के लिए इस्तेमाल किया गई विस्टा कार इस तरह कुल 22 लाख 23 हजार का माल जब्त किया गया।

उक्त कार्रवाई पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अशोक बनकर, उपविभागीय पुलिस अधिकारी जालिंदर नालकुल के मार्गदर्शन में पो.नि. रेवचंद सिंगनजुड़े, पोउपनि नरेश उरकुड़े, पो.सि, हातझाड़े, जांगड़े की ओर से की गई।

रवि आर्य

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement