Published On : Wed, Sep 29th, 2021
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

गोंदिया: ASI थाने में रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

मारपीट के केस में मदद करने के लिए 3000 की स्वीकारी रिश्वत

गोंदिया। एसीबी विभाग अधिकारियों ने ट्रैप लगाकर 3 हजार रूपये रिश्‍वत लेते सहायक उपनिरीक्षक को रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी सहा. उपनिरीक्षक यह आमगांव थाने में तैनात है तथा उसने अपने पद का दुरूपयोग करते हुए मारपीट के मामले में शिकायतकर्ता के खिलाफ कार्रवाई न करने के एवज में रिश्‍वत ली।

जानकारी के मुताबिक शिकायतकर्ता किसान के पड़ोसी के मकान का निर्माण कार्य शुरू होने पर उसने निर्माण कार्य हेतु लगने वाली रेती किसान के घर के सामने आंगन में डाल दी। रेती को हटाने के लिए किसान ने पड़ोसी से कहा लेकिन उसने रेती हटाने के बजाए गालीगलौच व धक्का मुक्की करते हुए किसान से मारपीट की।

इस प्रकरण में दोनों ने एक-दूजे के खिलाफ एनसी मेटर के तहत आमगांव थाने में शिकायत दर्ज करा दी, जिसके बाद गांव के संबंधित बीट अमलदार सहायक उपनिरीक्षक दिलीप उरकुडे ने शिकायतकर्ता किसान के पड़ोसी के खिलाफ कार्रवाई करने और उसके खिलाफ कार्रवाई न करने की बात कहते हुए फिर्यादी से 5 हजार रूपये रिश्‍वत की मांग कर दी।

किसान रिश्‍वत देने का इच्छुक नहीं था लिहाजा उसने 23 सितंबर को भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग के गोंदिया दफ्तर पहुंच सहायक उपनिरिक्षक उरकुडे की शिकायत कर दी। मामले की जांच पश्‍चात एसीबी विभाग अधिकारियों ने 29 सितंबर बुधवार को आमगांव पुलिस स्टेशन में जाल बिछाकर सहायक पुलिस उपनिरीक्षक दिलीप उरकुडे (53) इसे अपने पद का दुरूपयोग करते हुए भ्रष्ट मार्ग अपनाकर शिकायतकर्ता से मौलभाव पश्‍चात 3 हजार रूपये की रिश्‍वत स्वीकार करते रंगेहाथों धरदबोच लिया।

इस मामले में अब आरोपी सउपनि. उरकुडे के खिलाफ आमगांव थाने में धारा 7 भ्रष्टाचार प्रतिबंधक अधिनियम 1988 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। उक्त कार्रवाई को पुलिस अधीक्षक रश्मी नांदेडकर, अपर अधीक्षक मिलिंद तोतरे (एसीबी नागपुर) के मार्गदर्शन में पुलिस उपअधीक्षक पुरूषोत्तम अहेरकर, पोनि अतुल तावाड़े, सउपनि विजय खोब्रागड़े, पो.ह. राजेश शेंद्रे, नापोसि योगेश उईके, रंजीत बिसेन, नितीन रहांगडाले आदि ने सफलतापूर्वक अंजाम दिया।

रवि आर्य