Published On : Tue, Aug 11th, 2020

गोंदिया: नक्सलियों के मंसूबे नाकाम , आयईडी को डिफ्यूज कर विस्फोटक बरामद

पुलिस गश्ती दल पर हमला करने के उद्देश्य से बिछाई थी भू-सूरंग

गोंदिया: नक्सल शहीद सप्ताह दौरान 28 से 3 अगस्त तक पुलिस ने बॉर्डर से लेकर जंगल के भीतर तक सर्च ऑपरेशन चलाए जिससे नक्सलियों में खलबली मची हुई थी लिहाज़ा नक्सल सप्ताह तो सुख और चैन से बीत गया लेकिन माओवादियों के खतरनाक मंसूबे खत्म नहीं हुए।
नक्सलियों ने गश्त के लिए आने वाली पुलिस पार्टी पर हमला करने के उद्देश्य से बारूदी सुरंग बिछाई जिसकी समय रहते खबरी ने पुलिस को जानकारी दे दी और जिला पुलिस प्रशासन ने मंगलवार 11 अगस्त को तत्परता के साथ उस भू-सुरंग को ढूंढ निकाला जिससे एक बड़ा हादसा अनहोनी होने से पहले टल गया।

नक्सलियों ने एक बड़ी हिंसक वारदात को अंजाम देने के उद्देश्य से अति दुर्गम क्षेत्र धानेगांव से मुरकुटडोह जाने वाले मार्ग पर जंगल के बीच गुप्त ठिकाने पर बारूदी सुरंग का जखीरा छुपा रखा है ऐसी जानकारी मिलने पर पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे , अप्पर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी , उपविभागीय पुलिस अधिकारी प्रशांत ढोले , नक्सल ऑपरेशन सेल सहायक पुलिस निरीक्षक प्रमोद बघेल , सालेकसा थाने के निरीक्षक राजकुमार डुणगे , बीडीडीएस पथक के सहायक पुलिस निरीक्षक संदीप चौहान सहित 60 कमांडो पथक सालेकसा , बीडीडीएस पथक गोंदिया के अधिकारी व कर्मचारियों की ओर से सुरक्षा उपकरणों के साथ संयुक्त सर्च ऑपरेशन चलाया गया


इसी दौरान 11 अगस्त मंगलवार को नक्सलियों द्वारा हमले के उद्देश्य से धानेगांव से मुरकुटडोह सड़क पर दलदलकुही स्प्रिंग पॉइंट के निकट भू सुरंग के भीतर छुपा कर रखे गए आयईडी को डिफ्यूज करते हुए सिल्वर रंग का एल्यूमिनीयम बेस एक्सप्लोझिव, इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, जर्मन डिब्बा कंटेनर (लगभग 5 से 6 किलो ग्राम), स्पीलंटर, इलेक्ट्रिक वायर, बॅट इस विस्फोटक सामग्री को बरामद किया गया।
स्पाट जब्ती पंचनामा पश्चात अब इस प्रकरण के संदर्भ में साजिश रचने वाले नक्सली संगठनों के खिलाफ मामला दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है।

रवि आर्य