Published On : Sun, Jul 14th, 2019

अनैतिक संबंधों के चलते आशिकी में गई जान

Advertisement

गोंदियाः कमरगांव महिला मर्डर केस की गुत्थी सुलझी, आरोपी गिरफ्तार

गोंदिया: गोंदिया जिले की गोरेगांव तहसील के ग्राम कमरगांव स्थित खेत में 12 जुलाई शुक्रवार को हुई स्वाति रहांगडाले की निशृंस हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। इस प्रकरण के संदर्भ में क्राईम ब्रांच ने महिला के घर के सामने रहने वाले आरोपी युवक राजेश बलीराम चौरेवार (32 रा. कमरगांव त. गोरेगांव) के घर पर दबिश देकर उसे हिरासत में लिया। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है तथा उसके खिलाफ धारा 302 के तहत मर्डर का जुर्म पंजीबद्ध कर लिया गया है।

Advertisement
Advertisement

वारदात के विषय में पुलिस ने जानकारी देते बताया, आरोपी राजेश यह अविवाहित युवक है तथा उसके पास खुद का ट्रैक्टर है जो वह कृषि सिंचाई तथा रेत-ईंट ढुलाई के काम पर चलाकर अपना जीवनयापन करता है। मृतका की शादी 6 वर्ष पूर्व हुई थी तथा उसे कोई औलाद नहीं हुई थी जिसकी वजह से पति-पत्नी के बीच घर में कलेश था। संभवतः इसी वजह से स्वाति , राजेश की ओर आकृषित हो गई और दोनों का प्यार परवान चढ़ा तथा डेढ़ वर्ष से दोनों के बीच प्रेम संबंध कायम थे।

राजेश पर शादी का दबाव बनाकर, साथ रहने की जिद्द पर अड़ी थी स्वाति
चूंकि राजेश कुंवारा था और उसके शादी के रिश्ते जुड़ने की बात चल रही थी, इसकी जानकारी जब स्वाति को लगी तो वह राजेश पर शादी हेतु दबाव बनाने लगी और उसके साथ रहने की जिद्द पर अड़ गई जिसके लिए राजेश तैयार नहीं था और वह लिव इन रिलेक्शनशिप में ही रहना चाहता था।
संभवतः राजेश को इस बात का भय सता रहा था कि, अगर कल स्वाति ने मुंह खोल दिया तो तमाशा खड़ा हो जाएगा और गांव में उसकी बेइज्जती होगी, इसी वजह से उसने स्वाति नामक कांटे को रास्ते से हटाने की सोची और मौके की तलाश में था।

घटना के दिन मृतका का पुरा परिवार खेत में कृषि सिंचाई हेतु चला गया तथा स्वाति घर के पीछे स्थित बाड़ी की खुली जगह पर हल्दी के बीज छिड़क रोपाई में जुटी थी, इसी दौरान सुबह 9.30 बजे आरोपी राजेश की ऩजर उसपर पड़ी तथा वह सूनेपन का लाभ उठाकर बाड़ी में आया और वहां पड़ा लोहे का फावड़ा उठाकर स्वाति के सिर और शरीर पर दनादन वार करते उसे ढेर कर दिया।

क्योंकि पति-पत्नी के बीच रिश्तों में खट्टास की जानकारी मायके वालों को भी थी, लिहाजा उन्होंने वारदात के लिए स्वाति के पति और उसके ससुराल वालों पर आरोप मढ़ दिया जबकि ग्रामवासियों को यह यकीन था कि, बंडूभाऊ एैसा नहीं कर सकता?

पुलिस ने ली श्‍वान पथक की मदद, खुफिया तंत्र काम कर गया
लिहाजा पुलिस ने भी धारा 141 का नोटिस संबधितों को देकर उन्हें डिटेन कर पूछताछ शुरू की इसी बीच पुलिस ने इस मामले की गुत्थी सुलझाने हेतु डॉग स्कॉट, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट, खुफिया तंत्र की मदद ली। मामले की गहन जांच हेतु जिला पुलिस अधीक्षक विनीता साहू के मार्गदर्शन में टीम गठित की गई। अप्पर पुलिस अधीक्षक संदीप आटोले गुनाह डिटेन होने तक गोरेगांव में ही डटे रहे। उपविभागीय पुलिस अधिकारी जालिंदर नालकुल, स्थानीक अपराध शाखा निरीक्षक दिनकर ठोसरे, गोरेगांव थाना प्रभारी दासुरकर एलसीबी के सहा. पोनि. रमेश गर्जे, प्रदीप अतुलकर, गोरेगांव के सपोनि सचिन थोरात ने आखिरकार मामले की गुत्थी 36 घंटे में सुलझाते हुए शनिवार रात 9.30 बजे आरोपी को हिरासत में ले लिया।

रवि आर्य

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement