Published On : Mon, Apr 1st, 2019

गोंदियाः चेकपोस्ट पर वाहनों की तलाशी में मिली बड़ी रकम

कार से 77 लाख की नकदी बरामद

गोंदिया: लोकसभा चुनाव के मुद्देऩजर जिले में आदर्श आचार संहिता लागू है तद्हेतु जिला पुलिस प्रशासन ने परप्रांत तथा ग्रामीण इलाकों से शहर में दाखिल होने वाले वाहनों की जांच पड़ताल हेतु चेक पोस्ट स्थापित किए है। इन जांच चौकियों पर संबधित पुलिस स्टेशन के अधिकारी, ट्रॉफिक पुलिस तथा निर्वाचन विभाग उड़न दस्ते के अधिकारियों की नियुक्ति की गई है।

30 मार्च के रात तिरोड़ा में चंद्रभागा नाका निकट गश्त में जुटी पुलिस टीम की ऩजर तिरोड़ा के चंद्रभागा स्थित जिला मध्यवर्ती सहकारी बैंक शाखा के सामने खड़ी इंडिका विस्टा कार क्र एम.एच. 35/पी. 4811 पर गई। जैसे ही गाड़ी में सवार होकर कुछ लोग आगे बढ़े , डियुटी पर तैनात तिरोड़ा थाना प्रभारी कैलाश गवते, निर्वाचन आयोग के उड़न दस्ते के नायब तहसीलदार व्हनकड़े सहित पुलिस कर्मियों ने वाहन को रूकने का इशारा किया तथा पंच गवाहों के समक्ष जब वाहन की जांच पड़ताल शुरू की तो कार की पिछली सीट के नीचे रखा एक बैग और टीन की पेटी बरामद हुई। उसी प्रकार कार की डिक्की में रखी प्लास्टिक की थैलियों से नगद रकम बरामद की गई।

जब पुलिस विभाग ने इन रूपयों की गिनती की तो वे 77 लाख रूपये निकले। कार में सवार व्यक्ति आकाश मनोहर वालदे तथा गाड़ी चालक देवेंद्र पांलादूरकर से जब इतनी बड़ी रकम के विषय में पूछताछ की गई तो वे कोई भी रकम के संदर्भ में समाधानकारक उत्तर या सबूती दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर सके जिससे आशंका जतायी गई कि, यह रकम हो सकता है चुनाव में इस्तेमाल होनी थी? लिहाजा पंच गवाहों के समक्ष 77 लाख रूपये की रकम को जब्ती पंचनामा तैयार कर रकम को हस्तगत करते हुए मामले की जानकारी गोंदिया आयकर टीम तथा भंडारा निर्वाचन अधिकारी को दी गई। आगे की तपतीश गोंदिया जिला निर्णय अधिकारी कर रहे है।

बहरहाल उक्त धरपकड़ कार्रवाई को सफलता पूर्वक अंजाम देने वाले तिरोड़ा पुुलिस स्टेशन के सापोनि कैलाश गवते व उनकी टीम को पुलिस अधीक्षक ने सजगता के लिए हौसला अफजाई की है।

शहर से सटे कारंजा इलाके के टी पाईंट चौराहे पर पुलिस द्वारा स्थापित किए गए चेक पोस्ट पर से 31 मार्च सुबह 11 बजे क्रास हो रही सफेद रंग की इंडिका कार क्र. एम.एच. 36/झेड. 4257 को मंडल अधिकारी बलिराम भंडारकर, 2 महिला पटवारी, एक महिला पुलिस कर्मचारी ने वाहन को रूकने का इशारा किया , उस वक्त कार में बसपा उम्मीदवार डॉ. विजया नादूरकर, उनके पति राजेश नांदूरकर तथा चालक रणधीर लक्ष्मण मदनकर, संजय सावरकर (रा. पवनी जि. भंडारा) यह सवार थे तथा जब शासकीय कैमरामेन की मौजुदगी में बसपा उम्मीदवार डॉ. विजया नांदूरकर के हैडबैग की तलाशी ली गई तो उसमें 1 लाख रूपये के नकदी की बरामदगी हुई।

इस नकदी के संदर्भ में जब पूछताछ की गई तो वे कोई समाधानकारक उत्तर नहीं दे पायी। बस इतना ही कहती दिखी कि उनके प्रचार में लगी 30-40 गाड़ीयां पानी पर नहीं इंधन पर लगती है। मामले की भनक लगते ही 5-6 बसपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे और उन्होंने जांच में जुटे अधिकारी व कर्मचारियों के साथ गालीगलौच करते हुए शासकीय काम में रूकावट निर्माण की व जिलाधिकारी द्वारा जारी किए गए जमाबंदी निषेधाज्ञा का उल्लंघन किया लिहाजा गोंदिया ग्रामीण थाने में मंडल अधिकारी की शिकायत पर संबधितों के खिलाफ धारा 171 (ई), 188, 186, 34, 123 का जुर्म दर्ज किया गया है।

जिला पुलिस टीम की ओर से नागरिकों से यह अपील की गई है कि, माननीय कलेक्टर द्वारा जिले में निषेधाज्ञा धारा लागू की गई है तथा जिला निर्वाचन आयोग के आदेशानुसार किसी भी मतदाता को प्रलोभन देना इसे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जायेगा और डियुटी पर तैनात अधिकारी, कर्मचारियों के साथ किसी भी प्रकार का असभ्य बर्ताव करने वालों पर अपराधिक मामले दर्ज होंगे।

 

 

 

 

 

 

 

 

रवि आर्य