Published On : Tue, May 25th, 2021

गोंदिया: छोटे फ्लाईओवर ,कारागृह (जेल) निर्माण तथा सड़कों के चौड़ीकरण का मार्ग प्रशस्त

मंत्रालय में लोक निर्माण मंत्री अशोक चौहान और सांसद प्रफुल्ल पटेल की मौजूदगी में बैठक

गोंदिया। गोंदिया और भंडारा जिले में विभिन्न लंबित निर्माण कार्यों में आ रही रुकावटों को दूर कर तत्काल निर्माण कार्य शुरू करने के संदर्भ में मंगलवार 25 मई को मुंबई मंत्रालय में लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण और सांसद प्रफुल पटेल की मौजूदगी में एक बैठक ली गई।
बैठक में गोंदिया शहर के जर्जर हो चुके छोटे फ्लाईओवर, कारागृह (जेल) निर्माण और सड़कों के निर्माण एवं चौड़ीकरण के मुद्दे पर सकारात्मक चर्चा हुई जिससे अब जिले में प्रलंबित कार्यो के निर्माण की राह आसान होती नजर आ रही है।

गौरतलब है कि, सांसद प्रफुल पटेल की पहल पर बैठक का आयोजन किया गया जिसमें नेहरू चौक से शासकीय रेस्ट हाउस मार्ग पर पुराने फ्लाईओवर को तोड़कर उस स्थान पर नए उड़ान पुल का निर्माण, गोंदिया शहर के टीबी अस्पताल से गायत्री मंदिर तक सड़क का चौड़ाईकरण, कुड़वा टी पाईंट से पांढराबोड़ी मार्ग कटंगी तक रास्ते का चौड़ीकरण करने तथा गोंदिया शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय इमारत बांधकाम के बढ़ोत्तरी बजट अंदाजपत्रक को शासन इसके पूर्व ही मंजूरी दे चुकी है, अतः मेडिकल कॉलेज इमारत के बांधकाम को गति प्रदान करने, साथ ही गोंदिया स्थित शासकीय विश्रामगृह की इमारत जर्जर हो चुकी है इसलिए उसके पूननिर्माण करने, रावणवाड़ी-कामठी- कालीमाटी- आमगांव मार्ग का डांबरीकरण करने, तिरोड़ा- कवलेवाड़ा से सिहोरा रास्ते का डांबरीकरण करने, कुड़वा- हिवरा-धापेवाड़ा- परसवाड़ा मार्ग का डांबरीकरण करने के संदर्भ में भी चर्चा की गई।

लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को उक्त बाधाओं को दूर कर निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।

सेंट्रल जेल निर्माण पर चर्चा


मंगलवार को मुंबई में हुई बैठक में कई वर्षों से लंबित जिला कारागृह निर्माण के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा की गयी.

लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण ने भी इस समस्या को दूर कर सेंट्रल जेल इमारत निर्माण में तेजी लाने को कहा।

कलेक्ट्रेट भवन के जीर्णोद्धार पर भी बैठक में चर्चा हुई।

मुंबई मंत्रालय में हुई बैठक में विधायक मनोहर चंद्रिकापुरे, विधायक राजू कारेमोर, मुख्य अभियंता लोक निर्माण विभाग, मुख्य अभियंता राष्ट्रीय राजमार्ग क्षेत्रीय विभाग, अधीक्षक अभियंता (लोक निर्माण विभाग नागपुर), अधीक्षण अभियंता (राष्ट्रीय राजमार्ग बोर्ड), परियोजना निदेशक (राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण), गोंदिया लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता और इन विभागों के सचिव उपस्थित थे।

रवि आर्य