Published On : Wed, Apr 1st, 2015

बुलढाणा : भूमि अधिग्रहण व गोवंश हत्या कानून के खिलाफ निकला विशाल मोर्चा


जिले भर से हजारों लोग हुए शामिल

जिलाधीश को सौंपा ज्ञापन

Morcha in Buldhana  (2)
बुलढाणा। गोवंश हत्या कानून तथा भूमि अधिग्रहण कानून लाखों लोगों को सड़क पर लाने वाला है. ऐसे जुल्मी कानून को रद्द किये जाने की मांग को लेकर मंगलवार 31 मार्च को बुलढाणा शहर में विभिन्न राजनितिक एवं सामाजिक संघठनो की ओर से जिलाधीश कार्यालय पर मोर्चा निकाला गया. जिसमें जिले भर से हजारों लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए सरकार के खिलाफ अपना रोष व्यक्त किया.

स्थानीय इक़बाल चौराहे पर 12 बजे के करीब मोर्चा आरंभ होकर जनता चौक, पुलिस थाना मार्ग, जयस्तंभ चौक से होते हुए जिलाधीश कार्यालय पर पहुंचा. यह मोचा राजकीय पक्ष एवं सामजिक संघठन की अगुवाई में निकाला गया जिस में किसान संगठन, स्वाभिमानी किसान संघठन, जमीअत उलमा-ए-महाराष्ट्र, जमिअतुल कुरैश, विदर्भ किसान खेत मजदुर संघठन, चर्मकार संगठन, बहुजन भीमशक्ति संघठन, भूमिमुक्ति मोर्चा, सम्राट संघठन, भूमिहक परिषद आदि का समावेश रहा.

Morcha in Buldhana  (1)
मोर्चा जिलाधीश कार्यालय पर पहुचने के बाद सभी पदाधिकारियों ने उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित कर यह कानून रद्द किये जाने की मांग की. पश्चात एक शिष्टमंडल जिलाधिकारी किरण कुरुंदकर को मिला और अपनी मांगो का ज्ञापन सौंपा. इस दौरान सभी संघटनों के पदाधिकारी रविकनत तुपकर, दिलीप जाधव, एड. मजीद कुरैशी, दादाराव गायकवाड़, लखन गाडेकर हाफिज शे. खलील उल्लाह, शे. जाकिर हुसैन कुरैशी, शे. रफीक कुरैशी, शे. सिद्दीकी कुरैशी, बिस्मिल्लाह कुरैशी, हाजी सै. इस्माइल डोंगरे, मो. सज्जाद, डी. आर. माली, मधुकर गवई, कुणाल पैठणकर, डा. सै. महेबुब, प्रशांत सोनुने, करीम शाह, नेताजी अरुण जाधव सहित अन्य उपस्थित थे.