Published On : Fri, Mar 24th, 2017

शहादत दिवस पर भूल गए शहीदों को…


नागपुर:
23 मार्च को देश भर में शहीद दिवस मनाया जाता है। इस दिन सन 1931 को अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव ने फांसी पर झूलकर शहादत की मिसाल कायम की थी। इस दिन विशेष पर शहीदों को याद कर उन्हें नमन कर श्रद्धांजलि दी जाती है। लंबे संघर्ष के बाद जीरोमाइल चौक पर शहीद स्मारक बनाया गया। लेकिन शहीद दिवस पर उन्हें भुला दिया गया। केवल शहीद दिवस ही नहीं जिन शहीदों के बलिदान पर हमारा आज वर्तमान टिका हुआ है, उन शहीदों के स्मारक तक में 23 मार्च को साफ सफाई तक नहीं की गई।

शहर के इतिहास में दर्ज बलिदान देनेवाले शहीदों की जो प्रतिमाए स्थापित की गई हैं उनमें मोटी धूल की परत जम गई है इसे तक साफ नहीं किया गया। सूखे फूल की माला भी नहीं निकाली गई है। जाहिर है शहीद दिवस पर कोई भी कर्मचारी अधिकारी या शहीद स्मारक बनाने में योेगदान देनेवाले नेताओं ने इसे भुला दिया।