Published On : Sat, Mar 14th, 2015

अकोला : वराह पालन करने वाले कों 10 हजार ओर भैंस बांधनेवाले कों 5 हजार रूपए जुर्माना


सडक पर भैंस बांधने वाले को 5 हजार जुर्माना, उपायुक्त मडावी की कार्रवाई

शहर से बाहर हटाने के आदेश स्वाईन फ्लू के खतरनाक संक्रामक

Pigs-in-India
अकोला। बीमारियों के पाजीटिव मरीजों की संख्या को देखते हुए अकोला महानगर पालिका ने सावधानी के तहत शहर के सभी वराह पालन करने वाले व्यवसायिकों को उनके वराह शहर के बाहर करने के आदेश दिए है. बावजूद इसके कई लोगों ने इस आदेश का पालन नहीं किया. 13 मार्च को मनपा उपायुक्त माधुरी मडावी ने अपने दल के साथ आनंद नगर हिंगणा रोड इस परिसर में नागरिकों की शिकायतों के चलते भेंट देने पर एक वराह पालन करने वाले व्यवसायी ने अवैध रूप से अपने घर के टेरेस पर 20 से 25 वराहों को बंद कर रखने की घटना उजागर हुई. यह घटना काफी गंभीर होने के कारण उपायुक्त मडावी ने व्यवसायिक भरतसिंग सर्कलसिंग बावरी को 10 हजार रूपए का जुर्माना अदा करने के आदेश देते हुए वहारों को 24 घंटे के भीतर शहर के बाहर हटाने के आदेश भी जारी किए. इसी कार्रवाई के दौरान सडक पर भैंसे बांधकर रखने के साथ सडक को अवरूद्ध करने के कारण एक दूध व्यवसायी को उपायुक्त ने 5 हजार रूपए का जुर्माना अदा करने के आदेश दिए है.

Pigs-in-India.2jpg
वर्तमान में अकोला शहर में स्वाईन फ्लू की दहशत फैली हुई है. अनियमित सफाई व गंदगी के कारण नागरिकों के लिए स्वाईन फ्लू का खतरा बना हुआ है. ऐसे में वराहों के माध्यम से फैलने वाले इस खतरनाक संक्रामक बीमारी को लेकर मनपा का स्वास्थ्य विभाग एलर्ट नजर आ रहा है. परिणाम स्वरूप शहर के वराह पालनकर्ताओं को अपने जानवरों को शहर से बाहर करने के आदेश दिए गए हैं. इस कार्रवाई के दौरान सहायक नगर रचनाकार संदीप गावंडे, राजेंद्र देशमुख, सहायक स्वास्थ्य निरिक्षक संजय खोसे, राजेश पथरोट, अमर खोंडे, रूपेश मिश्रा, अरूण रघबनसिंह, मो. आसिफ, संदीप गोतमारे आदि उपस्थित थे. उपायुक्त की इस कडी कार्रवाई को देखते हुए वराह पालकों व मवेशियों को सडकों पर बांधकर व्यवसाय करने वाले दूध उत्पादकों में खलबली मच गई है.