Published On : Mon, Oct 26th, 2020

दशहरा रैली में गरजे उद्धव- भारत में कहीं PoK है तो ये PM मोदी की नाकामी

शिवसेना की वार्षिक दशहरा रैली रविवार को दादर स्थित सावरकर ऑडिटोरियम में हुई. इस मौके पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपने संबोधन में पीएम मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि भारत में अगर कहीं PoK है तो ये PM मोदी की नाकामी है. इसके साथ ही उद्धव ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी पर निशाना साधा. उद्धव ने उन्हें ‘काली टोपी’ पहनने वाले व्यक्ति के रूप में पुकारा.

Advertisement

उद्धव ठाकरे ने कहा कि आज उनसे दशहरा रैली में किए गए मोहन भगवत के भाषण को सुनने के लिए कहते हैं, जिसमें उन्होंने कहा कि हिंदुत्व का मतलब मंदिरों में की जाने वाली पूजा नहीं है, और आप हमसे कह रहे हैं कि अगर आपने मंदिर नहीं खोले तो आप धर्मनिरपेक्ष बन रहे हैं. अगर आप ‘काली टोपी’ के नीचे कुछ दिमाग रखते हैं, तो मुख्य भाषण को सुनें. हम हमेशा से चाहते थे कि मोहन भागवत हमारे देश के राष्ट्रपति बनें, लेकिन वो ऐसा नहीं चाहते.

Advertisement

उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि वो मेरी सरकार को गिराना चाहते हैं, लेकिन मैं सूचित कर दूं, पहले अपनी सरकार को बचाएं. मैं अपील करूंगा कि बिहार के लोग आपकी आंखें खोलें और वोट करें. उन्होंने कहा कि मैं मराठा, ओबीसी समुदाय के लिए न्याय चाहता हूं. मेरा सभी से अनुरोध है कि कोई बंटे नहीं, हमें महाराष्ट्र के लिए संयुक्त रहना है.

Advertisement

कंगना पर साधा निशाना
कंगना पर निशाना साधते हुए सीएम उद्धव ने कहा कि आज हम दस चेहरे का प्रतीकात्मक रावण जलाते हैं. एक चेहरे का कहना है कि मुंबई पीओके है. मैं कहना चाहूंगा कि अनुच्छेद-370 हट चुका है. अगर हिम्मत करो तो वहां एक जमीन खरीदने की हिम्मत करो. आप यहां रोजगार के लिए आते हैं और मुंबई को बदनाम करते हैं. मुंबई पुलिस को बदनाम क्यों किया? ये वही पुलिस है जिसने आपको बचाने के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी. पीओके के साथ मुंबई की तुलना पीएम नरेंद्र मोदी का अपमान है.

महाराष्ट्र के लोग बांग्लादेश रह रहे हैं क्या?
सीएम ने कहा कि हमारे देश में जो चीजें चल रही हैं, वे बेहद दुखद हैं. कोरोना को भुलाकर भाजपा केवल विभिन्न राज्यों की सरकार गिराने के लिए बैठी है. मैं लॉकडाउन नहीं चाहता, लेकिन मौजूदा स्थिति को देखता हूं. केंद्र सरकार बिहार में निशुल्क वैक्सीन देने जा रही है, फिर महाराष्ट्र के लोग बांग्लादेश या पाकिस्तान में रह रहे हैं क्या?

शिवाजी पार्क में नहीं हुई रैली
पार्टी की दशहरा रैली पारंपरिक रूप से शिवाजी पार्क मैदान में होती आई है, लेकिन कोरोना के कारण पहली बार दशहरा रैली ऑडिटोरियम में हुई. पार्टी के सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया गया.

बता दें कि महाराष्ट्र में उद्धव सरकार ने राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक सभाओं पर प्रतिबंध लगाया हुआ है, जिसके तहत कोरोना के सुरक्षा प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए दशहरा रैली ऑडिटोरियम में आयोजित करने का फैसला किया गया था.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement