Published On : Sat, Feb 28th, 2015

चांदुर बाजार : बांध में ही ठिया देंगे किसान

Advertisement


2 मार्च से आंदोलन

चांदुर बाजार (अमरावती)। तहसील की पेढी नदी पर प्रस्तावित राजुरा बृहत लघु प्रकल्प के प्रभावित किसानों, पुनर्वासग्रस्त ग्रामवासियों ने अपनी मांगों को लेकर निर्माणाधीन बांध में 2 मार्च से बेमियादी ठिया आंदोलन करने की चेतावनी प्रशासन को दी है. प्रकल्पग्रस्त 100 किसानों के हस्ताक्षरयुक्त निवेदन के अनुसार 30 जनवरी 2009 को इस प्रकल्प को प्रशासकीय मान्यता मिली. 28 अगस्त 2009 से कार्यारंभ  का आदेश प्राप्त हुआ.

इस प्रकल्प की अनुमानिट कीमत 44.79 करोड़ रुपये है. जिसमें से 27.62 करोड़ रुपये मंजूर हुये. लगभग 60 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है. इस प्रकल्प में डूब क्षेत्र में 304 हेक्टेयर क्षेत्र आता है. जिससे लगभग 250 किसान बाधित हो रहे है. राजुरा गांव का पुनर्वास किया जाएंगा. जिससे गांव के 293 परिवार आज भी पुनर्वास की प्रतीक्षा में है.

Advertisement
Advertisement

2012 में काम शुरू
प्रत्यक्ष में इस प्रकल्प का काम वर्ष 2012 में शुरू हुआ. उस समय 20 किसानों की खेती 6 लाख 63 हजार रुपये प्रति एकड़ के बाव से खरीदी गई. उसके बाद आज तक एक भी किसान के खेत की खरीदी नहीं निपटाई गई. जबकि बांध का काम तेजी से शुरू है. जिससे किसानों ने केती की खरीदी तत्काल निपटाने, वर्ष 2012 में शासन व्दारा चंद्रपुर जिले में शासकीय प्रयोजन के लिये 9 लाख 50 हजार प्रति एकड़ की दरों से खेत जमीन खरीदी की गई है, ठीक उसी तर्ज पर प्रकल्पग्रस्तों को खेत का मुआवजा दिया जाए. जलसंपदा विबाग ने प्रकल्पग्रस्त किसानों से 6 लाख 63 हजार रुपये प्रति एकड़ की दरों से खेत खरीदी खर्च के तौर पर प्रत्येकी 10,000 रुपये वसूल किये. यह खरीदी खर्च शासन वहन करें. इस मांगों को लेकर बांध ने यह ठिया आंदोलन किया जा रहा है. सांसद, विधायक समेत जिला प्रशासन व जलसंपदा विभाद को यह निवेदन भेजा जा चुका है.

Kolhapuri Bandh

File Pic

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement