Published On : Sat, Mar 31st, 2018

जेईई के लिए 8 अप्रैल के बजाये उससे पहले ही ली जाएगी परीक्षाएं


नागपुर: नागपुर यूनिवर्सिटी ने कुछ दिन पहले यूनिवर्सिटी की 130 विभिन्न विषयों की परीक्षा 24 मार्च को स्थगित कर 8 अप्रैल को लेने का निर्णय लिया था. लेकिन 8 अप्रैल को (जेईई) जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन की भी परीक्षा होने की वजह से नागपुर यूनिवर्सिटी अपने टाईमटेबल में फिर एक बार फेरबदल करनेवाली है. दरअसल जेईई मेन्स 2018 का पेन ऐंड पेपर मोड वाला एग्जाम 8 अप्रैल होगा जबकि कम्प्यूटर बेस्ड एग्जाम 15 और 16 अप्रैल को होनेवाला है. नागपुर यूनिवर्सिटी में पढ़नवाले विद्यार्थियों को 8 अप्रैल को अपने संकाय की परीक्षा देनी थी. लेकिन इसी दिन जेईई की परीक्षा होने के कारण उनके लिए काफी परेशानियां खड़ी हो सकती थी. जिसके कारण ही यह निर्णय लिया गया है. जेईई मेन परीक्षा पास करने वाले लगभग 2.24 लाख उम्मीदवारों को आईआईटी दाखिले की प्रवेश परीक्षा जेईई एडवांस देने का मौका मिलेगा. इसके अलावा आईआईटी, एनआईटी और ट्रिपल आईटी में प्रवेश के लिए 12वीं में 75 फीसदी अंक या फिर टॉप 20 परसेंटाइल में शामिल होना जरूरी है. नागपुर यूनिवर्सिटी ने अगर यह निर्णय नहीं लिया होता तो कई विद्यार्थियों को दोनों परीक्षाओं में से एक ही विकल्प का चुनाव करना पड़ा होता.

जेईई की परीक्षा और यूनिवर्सिटी की परीक्षा को लेकर नागपुर यूनिवर्सिटी के प्र- कुलगुरु डॉ. प्रमोद येवले ने जानकारी देते हुए बताया कि इसके लिए आज ही मीटिंग ली गई है और 8 अप्रैल को जेईई की परीक्षा होने की वजह से हम यह निर्णय लेनेवाले है कि चार या पांच अप्रैल को ही 8 अप्रैल की परीक्षाएं ली जाएं. जिससे की जेईई देनेवाले विद्यार्थियों को परेशानी न हो. येवले ने बताया कि शाम तक नागपुर यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा.