Published On : Thu, Nov 16th, 2017

पूर्व महापौर प्रवीण दटके, अन्य नगरसेवकों के साथ युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओ के खिलाफ मामला दर्ज


नागपुर: एसएनडीएल के कार्यालय में हंगामा करने वाले पूर्व महापौर प्रवीण दटके और अन्य नगरसेवकों के ख़िलाफ़ कंपनी द्वारा लकड़गंज थाने में मामला दर्ज कराया गया है। इस शिकायत में शहर में बिजली आपूर्ति करने वाली कंपनी ने कार्यालय में हंगामा और तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया गया है।

ज्ञात हो की बिजली बिल के बकायदारों के सामने आने नामों में पूर्व महापौर प्रवीण दटके, नगरसेवक नरेंद्र बोरकर के साथ अन्य कई नेताओ के नाम शामिल थे। इस जानकारी को झूठा बताते हुए युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओ के साथ मौजूदा नगरसेवक प्रवीण दटके, नरेंद्र बोरकर, वंदना यंगरवार, मनोज चापले, दीपक वाडीभस्मे और युवा मोर्चा के पदाधिकारी राहुल खंगारे ने प्रदर्शन किया था। इस प्रदर्शन के दौरान कंपनी के एसएनडीएल छापरु नगर कार्यालय में हंगामा किया गया था। इस प्रदर्शन के दौरान हुई घटना का विडिओ भी गुरुवार को सोशल मीडिया में वायरल हुआ था।

कंपनी के कॉर्पोरेट अफ़ेयर्स ऑफिसर स्वप्निल कवी द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत में घटना का विवरण देते हुए पुलिस को बताया गया है की इन नेताओं ने अपने करीब 50 कार्यकर्ताओं के साथ न केवल हंगामा किया बल्कि कार्यालय में रखी कुर्सियों की तोड़फोड़ भी की। करीब साढ़े 10 बजे कार्यालय में पहुँचे इन लोगो ने वाणिज्य महाप्रबंधक धर्मेद्र पाटिल को बाहर बुलाया। इन लोगो का कहना था की कंपनी द्वारा गलत जानकारी मीडिया को देकर उनकी बदनामी की गयी। इसके लिए बाकायदा मीडिया के सामने माफ़ी माँगी जाये। इसी दौरान पाटिल ने कंपनी प्रमुख सोनल खुराना को घटनास्थल पर बुलाया।

कंपनी प्रमुख और प्रवीण दटके जब एक अख़बार के दफ्तर में अपनी बात रखने के लिए कार्यालय से बाहर निकल रहे थे इसी दौरान वहाँ मौजूद कार्यकर्ताओ ने रखी प्लास्टिक की कुर्सियों के साथ तोड़फोड़ की।