| |
Published On : Wed, Jun 13th, 2018

आज भी हैं कुर्वे ही जिलाधिकारी

नागपुर: सरकार या प्रशासन कितने भी दावे कर ले कि वे अब ‘अपडेट’ हो गए हैं.दूसरे ही दिन उनकी पोल-पट्टी खुल के सामने आ जाती हैं.ऐसा ही कुछ अनुभव हुआ एक पढ़े-लिखे आम किसान को जब उन्होंने कुछ जानकारी के लिए जिलाधिकारी का ‘ऑफिसियल पोर्टल’ खोला तो दंग रह गए कि महीनों बीत गए जिलाधिकारी को बदले फिर भी पुराने जिलाधिकारी को वर्त्तमान जिलाधिकारी दर्शाया जा रहा.क्यूंकि के जागरूक व जिले के थे तो जिलाधिकारी कार्यालय की त्रुटि तुरंत समझ गए,वर्ना जिले के बाहरी नागरिकों के लिए कुर्वे ही जिलाधिकारी हैं.

उक्त जागरूक -शिक्षित किसान ने जिलाधिकारी कार्यालय के कई दूरभाष क्रमांक पर संपर्क कर खेती-किसानी से सम्बंधित जानकारियां जाननी चाही।तो कुछ समाधानकारक जानकारी मिली नहीं,कुछ अपने कक्ष से नदारत थे तो कुछ सीधी बात किसी और के मार्फ़त करने का राह दिखा रहे थे.

इससे छुब्ध होकर उक्त किसान ने जिलाधिकारी से सीधा संपर्क करने और जिलाधिकारी कार्यालय अंतर्गत शुरू ग्रामीण क्षेत्रों के लिए योजनाओं को पढ़ने और समझने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय की ‘ऑफिसियल पोर्टल’ पर गए तो हतप्रभ रह गए.कि एक ओर मोदी,गडकरी,फडणवीस अमूमन दर सप्ताह सरकार ऑनलाइन हो गई कि राग अलापते नहीं थकते,जिले को दुनिया के मानचित्र पर लाने के लिए जीतोड़ कोशिशें कर रहे और जिला प्रशासन उनकी मेहनत पर पानी फेर रहा.

इस किसान का मानना हैं कि जिलाधिकारी कार्यालय का पोर्टल ही ‘अपडेट’ नहीं तो प्रशासनिक कार्यप्रणाली की दशा-दिशा समझी जा सकती हैं.वर्त्तमान में नागपुर के जिलाधिकारी अश्विन मुद्गल हैं,जो पहले नागपुर मनपा के आयुक्त थे और जब वे जिलाधिकारी नियुक्त किये गए कुछ दिनों के लिए वे अन्य ५ विभागों के अतिरिक्त प्रभारी मुखिया भी रहे.

Stay Updated : Download Our App