Published On : Wed, Jan 4th, 2017

एस्सेल वर्ल्ड ने दिखाई गोरेवाड़ा परियोजना में रुचि

gorewada-zoo
नागपुर:
गोरेवाड़ा बायोपार्क प्रोजेक्ट में संभावनाओं को तलाशने के लिए मुंबई की एस्सेल वर्ल्ड कम्पनी के अधिकारियों ने मंगलवार को गोरेवाड़ा बायोपार्क परियोजना का मुआयना किया। मुआयने से पहले एफडीसीएम(फॉरेस्ट डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ महाराष्ट्र) के अधिकारियों के साथ बैठक की। सुबह 11 से 5 बजे तक एस्सेल वर्ल्ड की टीम ने परियोजना का दौरा किया। अचानक हुए इस दौरे से ठंडे पड़े परियोजना में नई संचार दौड़ गई है। चार सदस्यीय इस टीम ने गोरेवाड़ा बायोपार्क के हर घटक मसलन रेस्क्यू सेंटर, प्रस्तावित चिड़ियाघर, सफारी, नॉम फॉरेस्ट एरिया(गैर वन परिसर) का दौरा किया। इस दौरे में कम्पनी के प्रबंध निदेशक, सीईओ, परियोजना निदेशक व अन्य एक अधिकारी का समावेश है।

गोरेवाड़ा परियोजना को 49 प्रतिशत की भागीदारी निजी क्षेत्र से जुटानी है। 51 प्रतिशत राज्य सरकार की हिस्सेदारी होगी। इन दोनों के माध्यम से परियोजना के िलए ेक एसपीयू अर्थात स्पेशल पर्पज विहिकल तैयार किया जाना है। 452 करोड़ रुपए की इस परियोजना में 49 प्रतिशत भागीदारी निजी क्षेत्र के िलए ई-निविदा पुकारी गई थी। लेकिन इस ई निविदा को किसी का प्रतिसाद ना मिलने से चारो तरफ से आलोचनाएं होने लगी थी। इसके बाद दोबारा ई-निविदा बुलाए जाने की तैयारी की जा रही थी।

इस बीच निवेशकों की एक बुलाई गई बैठक में लीज की मान्यता बढ़ाए जाने की भी मांग की गई थी। मुख्यमंत्री द्वारा इंडियन जंगल सफारी, साइकल सफारी आदि शुरू कर इंडियन सफारी की तैयारी किए जाने की खबरों को देखते हुए इतनी बड़ी कम्पनी द्वारा परियोजना में रुचि दिखाए जाने की चर्चा है। बैठक में एफडीसीएम के प्रबंध निदेशक डॉ. सुरेश गैरोला, महाप्रबंधक आर.एस.यादव, विभागीय प्रबंधक सचिन रेपाल व अन्य अधिकारियों का समावेश था।