Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Aug 3rd, 2018

    एंसारा मेट्रो पार्क पर मामला दर्ज

    नागपुर: हुड़केश्वर की मौजा पिपला में एंसारा मेट्रो पार्क इंफ्रा और और लग्जोरा इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. के संचालकों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है. फ्लैट बेचने के नाम पर महिला से धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है. पुलिस ने स्नेहनगर, गड़चिरोली निवासी नयना अरुण पेंदोरकर उर्फ नयना बाबूलाल सायरे (44) की शिकायत पर मामला दर्ज किया है. आरोपियों में एंसारा मेट्रो पार्क और लग्जोरा इंफ्रास्ट्रक्चर के संचालक दीपक वरुण दानी, तरुण इंदलानी, चैतन्य पारेख, ओमप्रकाश मोहकार, संजय कोठारी और सर्वेश लक्ष्मण का समावेश है.

    कम्पनी द्वारा मौजा पिपला में एक बड़ी स्कीम बनाई जा रही है. इसमें नयना ने ट्री लाइन अपार्टमेंट में 404 नंबर का फ्लैट बुक किया था. 1185 वर्ग फुट के इस फ्लैट का सौदा 83.42 लाख में हुआ था. फ्लैट का सौदा करते समय नयना से 8.65 लाख रुपये का चेक लिया गया. उन्हें 31 दिसंबर 2016 तक फ्लैट का पजेशन देने का वादा किया गया था. समय पर प्लैट स्कीम का काम पूरा नहीं किया गया.

    न तो उन्हें पैसे लौटाए गए और न फ्लैट स्कीम का काम किया गया. कई बार चक्कर काटने के बावजूद नयना को निराशा हाथ लगी. आखिर उन्होंने मामले की शिकायत पुलिस से की. हुड़केश्वर पुलिस ने संचालकों के खिलाफ विविध धाराओं के तहत धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया. मामले की जांच जारी है.

    प्रापर्टी डीलरों के खिलाफ एफआईआर
    दूसरे की जमीन अपनी बताकर लोगों से प्लाट बेचने के नाम पर पैसा लेने वाले प्रापर्टी डीलरों के खिलाफ जरीपटका पुलिस ने मामला दर्ज किया है. आरोपियों में राठोड़ लेआउट, अनंतनगर निवासी मोहम्मद शरीफ मोहम्मद शबी (63) और गांधीबाग निवासी गरीब नवाज ख्वाजा का समावेश है.

    बेझनबाग निवासी पुरुषोत्तम रामभाऊ वासनिक (62) की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया. आरोपियों ने लोगों को जरीपटका थाना क्षेत्र में जमीन बताई. यह जमीन उनकी मालकी की होने की जानकारी दी. अवैध तरीके से लेआउट बताकर उनसे पैसे ले लिए. वासनिक सहित अन्य लोगों से कुल 1.82 लाख रुपये लिए गए, लेकिन पजेशन नहीं दिया.

    लोगों ने जांच पड़ताल की तो पता चला कि जमीन शरीफ और नवाज की नहीं है. पीड़ितों ने मामले की शिकायत पुलिस से की. पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच आरंभ की है.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145