Published On : Tue, Feb 10th, 2015

मलकापुर : मनसे द्वारा अतिक्रमण हटाओं अभियान

Untitled-1 copy
मलकापुर (बुलढाणा)। शहर का अतिक्रमण उठाये, पिने के पानी की आपूर्ति नियमित करें तथा शहर में जगह-जगह फैली गंदगी उठाये तथा हटाये गए अतिक्रमण धारकों को योग्य जगह उपलब्ध करके दे आदि मांगो के लिए मनसे जिला उपाध्यक्ष गजानन ठोसर और शहराध्यक्ष नानासाहेब बाबर के नेतृत्व में न.प. को जगाने के लिए आंदोलन किया गया. जिसमे न.प. में प्रशासकीय ईमारत पर डफली बजाव और मुख्याधिकारी के केबिन में कचरा डालने का आंदोलन किया गया.

अतिक्रमण हटाओं अभियान अंतर्गत अतिक्रमण धारकों को सहारा देने का प्रयास प्रशासन की ओर से किया जा रहा है. इससे पहले हटाये गए बेरोजगार अतिक्रमण धारकों और उनके परिवार पर भुखोमरी की नौबत आई है. उन्हें पर्याप्त जगह उपलब्ध करके दे. पानी की आपूर्ति होने पर भी न.प. 20 से 22 दिन बाद पानी आपूर्ति कर रही है. जिससे पिने के पानी के लिए नागरिकों को भटकना पड़ता है. शहर में हर जगह गंदगी फैली है. स्वच्छता के अभाव में नागरिकों पर विपरीत परिणाम हो सकता है. इन समस्यायों की ओर न.प. ध्यान दे इसके लिए मनसे की ओर से 5 फरवरी को न.प. प्रशासन को ज्ञापन दिया गया. जिसकी ओर प्रशासन ने अनदेखी की. इस कारण मनसे ने डफली बजाव आंदोलन किया और मुख्याधिकारी के केबिन में कचरा डाला गया.

9 feb malkapur news1 - Copy
इस दौरान उपमुख्याधिकारी कुशल छाजेड़ ने आंदोलनकर्ताओं से चर्चा करके शहर का अतिक्रमण निकालेंगे और साफसफाई शुरू की जाएगी. पानी की पाईप लाइन कुछ जगह से लिकेज होने से उसका कार्य युद्ध स्तर पर शुरू है. इस महीने के आखिर में पानी की आपूर्ति रोज शुरू रहेगी ऐसा लिखित पत्र दिया गया. इस आंदोलन में मनसे जिला उपाध्यक्ष गजानन ठोसर, शहराध्यक्ष नानासाहब बाबर, सहित तालुका उपाध्यक्ष विश्वनाथ पुरकर, मोहन पाटिल, शहर उपाध्यक्ष निखिल चिम, मंगेश सातव, शेख समद कुरैशी, मनविसे जिला उपाध्यक्ष पंकज पाटिल, श्याम संबारे, शिवा भोसले, शिवा उंबरकर, रामेश्वर भिसे समेत मनसे के पदाधिकारी अधिक भारी में सहभागी हुए थे.