Published On : Sat, Apr 11th, 2015

कन्हान वासियों का शुद्ध पानी के लिए एल्गार मोर्चा

Advertisement


तहसीलदार की मोर्चे को भेंट

Elgar front by kahnan citizen for pure water (2)
कन्हान (नागपुर)। कन्हान-पिपरी नगर परिषद अंतर्गत दिए जा रहे अशुद्ध पानी से नागरिकों का स्वास्थ्य खतरे में आया है. नागरिकों को शुद्ध पानी मिले इसलिए सर्वपक्षीय कन्हान वासियों ने कल एल्गार पुकार कर नगर परिषद पर मोर्चा निकाला. इस मोर्चे को तालुका दंडाधिकारी तेढ़े भेंट देकर नागरिकों को शुद्ध पानी देने का आश्वाशन दिया.

कन्हान शहर में विगत 6 महीने से पानी की समस्या दिख रही है. उसमें से गर्मी में नागरिकों को दूषित पानी की पूरी की जा रही है. पानी पिने योग्य नही होने की रिपोर्ट प्राथमिक आरोग्य केंद्र कन्हान में देने के बाद भी पानी में ब्लिचिंग डालने की जरुरत नगर परिषद ने नही समझी. इस गांव में 7 टैंकर द्वारा पानी पूर्ति की गई है. फिर भी टैंकर की चोरी कुछ नगरसेवक द्वारा करने से गांव में पानी की समस्या निर्माण हुई है. इस संबंध में नागरिकों ने नगराध्यक्ष आशा पनिकर और मुख्याधिकारी गीता से वंजारी बार-बार पूछने पर टालमटोल जवाब दिया गया. हक़ का पानी देने के लिए नगर परिषद असमर्थ होने के निर्देशन में आने पर कल नागरिकों ने सर्वपक्षीय मोर्चा निकाल कर नगरपरिषद प्रशासन को घेर लिया. इस मोर्चे को तालुका दंडाधिकारी तेढ़े ने भेंट देकर नागरिकों की समस्यायों का जायजा लिया और कन्हान शहर को शुद्ध और नियमित पानी की पूर्ति करने का आश्वाशन दिया.

Advertisement
Advertisement

इस दौरान मोर्चे में पूर्व सांसद प्रकाश जाधव, विरोधी पक्ष नेता नरेश बर्वे, पूर्व पं.स. सभापति तथा नगरसेविका करुणा आष्टानकर, वर्धराज पिल्ले, गणेश भोंगाडे,वैशाली डोनेकर, प्रशांत मसार, नरेश शेलके, मोना धुमाल, एड. ज्योत्सना ऊके, गणेश माहुरे, किशोर बेलसरे, मंगेश कवाड़कर, सुजाता नन्हारे, सतीश पाली, शैलेश झेंडे समेत 500-600 से अधिक नागरिक उपस्थित थे. इस दौरान उपविभागीय पुलिस अधिकारी कंठेवार के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक, मौला सय्यद, पी.एस.आय. वांगे ने बंदोबस्त किया था.

Elgar front by kahnan citizen for pure water (1)
कांग्रेस नगरसेवक आंदोलन से फरार    
भाजपा की सत्ता आने के बाद कन्हान नगर परिषद पर आज कांग्रेस, राका, मनसे, शिवसेना पार्टी ने संयुक्त तरीके से पानी प्रश्न का आंदोलन पुकारा. पानी के मसीहा नाम से चर्चित कांग्रेस नगरसेवक राजेश यादव इस आंदोलन में कही भी सहभागी नही हुए है. जिससे भाजपा के साथ राजेश यादव की युति हुई क्या? ऐसा प्रश्न मोर्चे में कांग्रेस कार्यकर्ता पूछ रहे थे.

मुख्याधिकारी को हटाओं – नरेश बर्वे  
नगरपरिषद की मुख्याधिकारी गीता वंजारी नगरसेवकों के साथ लापरवाही से व्यवहार करते है. समस्या तुरंत सुलझाना छोडके उसे खींचती है. जिससे इस मुख्याधिकारी को तुरंत हटाए ऐसी मांग कांग्रेस के गटनेता नगर सेवक नरेश बर्वे ने की है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement