Published On : Fri, Aug 5th, 2016

मर्यादा में रह कर बोले हरड़े – उमाकांत अग्निहोत्री

IMG-20160805-WA0002

पृथक विदर्भ राज्य को लेकर शुरू जुबानी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। नागपुर में भी नेताओ के बीच जुबानी जंग जारी है। गुरुवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री विलास मुत्तेमवार द्वारा की गई टिपण्णी पर जवाब देते हुए शिवसेना जिलाध्यक्ष सतीश हरड़े ने उन्हें उपदेश ना देने की सलाह दी थी इसके जवाब में काँग्रेस के नेताओ ने शुक्रवार को हरड़े पर निशाना साधा।

काँग्रेस के उमाकांत अग्निहोत्री ने शुक्रवार को पत्र परिषद लेकर सतीश हरड़े को ज़बान संभालकर बोलने की चेतावनी दी। अग्निहोत्री ने कहाँ की हरड़े बीते वर्ष तक मुत्तेमवार नेतृत्व काम करते रहे ,उपदेश लेते रहे अब किसी दूसरी पार्टी का दामन थाम लिया तो वरिष्ठ नेता की तहजीब करना भी भूल गए। सतीश हरड़े पर निशाना साधते हुए अग्निहोत्री ने कहाँ हरड़े को पहचान ही मुत्तेमवार की वजह से मिली है। जब से वह शिवसेना में गए है एक कार्यकर्त्ता नहीं बनाया वो नगरसेवक का चुनाव लड़ कर नहीं जीत सकते।

जिस व्यक्ति के पास कोई व्यक्तित्व नहीं है ,संगठन कौशल्य नहीं है वह वरिष्ठ नेता और 7 बार सांसद रहे व्यक्ति के खिलाफ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते है। हरड़े जब साथ में थे तब उन्होंने आपसी संबंधों का जमकर फायदा उठाया कई लोगो से पैसे लिए उसे लौटने की बजाये गलत व्यवहार कर रहे है। अपने नेता के खिलाफ ऐसे बयान पार्टी कार्यकर्त्ता बर्दाश्त नहीं करेंगे।