Published On : Wed, Jul 5th, 2017

धनवटे नेशनल कॉलेज होगा राज्य का पहला सोलर कॉलेज


नागपुर:
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, राज्य सरकार व शिवाजी साइंस शिक्षा संस्था अमरावती के साझा प्रयासों से कांग्रेस नगर के धनवटे नेशनल कॉलेज में सेमीनार हॉल और सोलर पॉवर प्रोजेक्ट का उद्घाटन शुक्रवार सात जुलाई को ऊर्जामंत्री चंद्रशेखर बावनकुले के हाथों किया जाएगा. यह जानकारी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. बबन तायवाड़े ने आयोजित पत्र परिषद में दी.

तायवाड़े ने बताया कि सोलर पैनल लगाने की वजह से अब कॉलेज को बिजली खरीदने की जरूरत नहीं होगी. साथ ही इसके वह इस संस्थान से बची हुई बिजली एमएसईबी को दे सकेंगे. उन्होंने बताया कि करीब 28 लाख रुपए की लागत से कॉलेज की छत पर 128 पैनल लगाए गए हैं. उन्होंने दावा किया कि यह राज्य में यह पहला कॉलेज है जहां पर सोलर पैनल द्वारा बिजली योजना शुरू की गई है.


तायवाड़े ने यह भी जानकारी दी कि महाराष्ट्र राज्य अशासकीय महाविद्यालयीन प्राचार्य महासंघ का राज्यस्तरीय अधिवेशन 9 और 10 जुलाई को होगा. उन्होंने बताया कि राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय, प्राचार्य फोरम व धनवटे नेशनल कॉलेज के संयुक्त प्रयास से यह 37वां राज्यस्तरीय अधिवेशन संपन्न होगा. इसका उद्घाटन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के हाथों होगा.


शिवाजी शिक्षा संस्थान के अध्यक्ष समारोह की अध्यक्षता करेंगे. इसमें 9 जुलाई को ‘भारतीय उच्च शिक्षा पद्धति की वर्तमान परिस्थिति’ पर डॉ. राजन वेलुकर व डॉ. राजू मानकर अपने विचार रखेंगे. 10 जुलाई को पहले सत्र में ‘नए विश्वविद्यालय कानून व महाविद्यालय के सामने आवाह्न’ इस विषय पर डॉ. प्रमोद येवले, डॉ.टी. ए. शिवारे, डॉ. नंदकुमार निकम व डॉ. आर. जी. भोयर अपने विचार रखेंगे. इसी दिन तीसरे चर्चासत्र का आयोजन किया जाएगा. जिसमें उच्च शिक्षा का वैश्विकरण विषय पर कुलगुरु डॉ. एन. वी कल्याणकर व कुलगुरु डॉ. एस. पी. काणे अपने विचार रखेंगे.