Published On : Tue, Mar 24th, 2020

कर्फ़्यू से ऑनलाइन फ़ूड आपूर्तिकर्ता मजे में

चुनिंदा दे रहे गुणवत्तापूर्ण व्यंजन तो कुछ मौके का फायदा उठा रहे

नागपुर – कोरोना को लेकर राज्य सरकार की गंभीरता देखते ही बनती हैं, सख्त हिदायत सह पहरा के साथ रोजमर्रा की जरूरतों को ध्यान में रख उनके आपूर्ति कर्ताओं को विशेष छूट दी गई हैं। इस छूट का चुनिंदा ऑनलाइन फ़ूड आपूर्तिकर्ता गुणवत्तापूर्ण सेवाएं दे रहे तो कुछ मौका देख अपनी रोटी सेकने में लीन हैं। राज्य सरकार के निर्देश काफी स्पष्ट होने के बाद भी चौक चौक पर तैनात पुलिस कर्मी परेशान कर रहे।

इस कर्फ्यू से जिन्हें आवाजाही की छूट दी गई,उन्हें अन्य कारणों से अड़ा रहे। उसी तरह ऑनलाइन फ़ूड आपूर्तिकर्ताओं के घर पहुंच सेवाएं देने वाले कर्मियों को भी परेशान करने की कई जानकारियां मिली हैं। वैसे ऑनलाइन फ़ूड का नागपुर में कोई खास चलन नहीं लेकिन इस कर्फ़्यू में सामग्री की कमी,बनाने का झंझट से बचने के लिए ऑनलाइन फ़ूड की मांग अचानक बढ़ गई। जिसके चुनिंदा ही आपूर्तिकर्ता गुणवत्तापूर्ण व्यंजन उच्च स्तरीय पैकिंग कर घर पहुंच सेवा दे रहे तो बहुतेक इसका फायदा उठा रहे।


नागपुरी ग्राहक खाने-पीने का शौकीन शुरू से ही रहा हैं, शनिवार-रविवार को आउटिंग पूर्ण शबाब पर रहता हैं, इसी की खानापूर्ति इन दिनों कर्फ़्यू के दौरान ऑनलाइन फ़ूड आपूर्तिकर्ता कर रहे।

नागपुर में 3 बड़ी एजेंसियां हैं, जो फ़ूड आपूर्ति का चेन चलाती हैं, इनसे गठबंधन कर आजकल कोई भी फ़ूड आपूर्ति का व्यवसाय शुरू कर लिया हैं, इसके लिए नियमानुसार संबंधित विभागों से कइयों ने अनुमति तक नहीं ली। नतीजा ग्राहकों को उनके मनमाफिक दर्जेदार भोजन/नास्ता आदि नहीं मिल पाता हैं। इसके साथ ही दाम के अनुरूप व्यंजन की मात्रा भी अल्प होती हैं।

वैसे यह व्यवसाय महानगरों का प्रमुख व्यवसाय हैं, इसका फायदा यह होता हैं कि प्रतिष्ठान खोलने और उसके संचलन का बड़ा खर्च बचता हैं, अल्प लागत में एक छोटी सी जगह में उच्च स्तरीय किचन की स्थापना कर दर्जेदार खानसामा के सहारे यह व्यवसाय सफलतापूर्वक बड़े व्यस्त शहरों में शुरू हैं, इस क्रम में नागपुर में भी शुरू हुए। गुणवत्ता और मात्रा संतोषजनक रही तो इस व्यवसाय से रोजगार के अवसर की बड़ी समस्या का हल निकालने का मार्ग प्रसस्त हो सकता हैं।