Published On : Fri, Jun 16th, 2017

मनसर टोल प्लाजा हटाने अब सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे कांग्रेस के गज्जू यादव

Advertisement

ओरिएंटल नागपुर बायपास कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा मनसर टोल प्लाजा से सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करते हुए अवैध रूप से टोल वसूली कर रहे है,इसे अविलंब बंद कर टोल नका को खवासा स्थित महाराष्ट्र-मध्यप्रदेश सिमा पर स्थानांतरित किया जाये। उक्त अवैध कृत से रामटेकवासियों को राहत दिलवाने का आश्वासन वर्त्तमान केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी व रामटेक लोकसभा के सांसद कृपाल तुमाने ने दी और आजतक पूरा नहीं किया।यह आरोप नागपुर जिला कांग्रेस के महासचिव गज्जू यादव ने लगाया। उक्त समस्या का शीघ्र निवारण नहीं हुआ तो वे जल्द ही क़ानूनी सलाहकार से सलाह लेकर सर्वोच्च न्यायलय ने याचिका दायर कर न्याय की गुहार लगाएंगे। इस मामले को लेकर गाठ दिनों टोल नाके पर आंदोलन किया गया.

Advertisement
Advertisement

यादव के अनुसार मनसर में नागपुर- जबलपुर महामार्ग के निर्माता ठेकेदार ओरिएंटल कंपनी पिछले ४ वर्ष से अवैध टोल वसूली कर रही है.रामटेक के सांसद कृपाल तुमाने ने गत लोकसभा चुनाव पूर्व रामटेक वासियों को आश्वासन दिया था कि चुनाव जीत कर आने के बाद सबसे पहले उक्त टोल को हटाकर मंजूर स्थान पर हस्तांतरित करवाऊंगा।लेकिन ३ वर्ष बीत गए टोल नाका जस के तस है.उसी तरह वर्ष २०१५ में एक कार्यक्रम में मनसर आये केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बड़े प्रभावी अंदाज में २ माह के भीतर टोल नाका ‘ शिफ्ट ‘ करने का आश्वासन दिया था. लेकिन समस्या यथावत होने से रामटेकवासी खुद को उक्त बड़े नेताओं के हाथों ठगे गए ,ऐसा कहते फिर रहे है.इस अवैध टोल से रामटेक-पारशिवनी मांर्ग आवाजाही करने वाले वाहनों को अकारण टोल चुकाना पड़ रहा है.उक्त अवैध टोल नाका को हटाने के संदर्भ ठेकेदार कंपनी ओरिएण्टल प्रबंधन को चेतावनी दी है,दिए गए समयावधि ने टोल ‘शिफ्ट ‘ नहीं किया गया तो तीव्र आंदोलन किया जाएगा। इस मामले में तात्कालीन जिलाधिकारी सौरभ राव ने भी तत्काल बैठक लेकर ठेकेदार कंपनी को निर्देश दिए थे,लेकिन उनके निर्देशों का भी पालन नहीं किया गया.

गज्जू यादव ने जानकारी दी कि सुको के आदेश अनुसार
A) Aa far as the maintenance stretch is concerned,i.e. from km.14.585 to km. 36.600 the existing toll plaza at km. 19.600 shall be shifted to,at or near about,km. 26.600 so that the local commuters are not required to pay any user free for using the four laned highway stretch on Nagpur side to go into the city.
B) Similar to above, the toll plaza at km. 703.700,on the highway going towards jabalpour,shall be sifted to the end of the newly developed four laned section i.e. at or near about km. 689.000.

उक्त आदेश के बाद भी टोल प्लाजा वाले जो नागपुर बायपास का उपयोग कर रहे है,वैसे वाहनधारकों को २१५ रूपए का मासिक पास लेना अनिवार्य किया गया है और जो बायपास का उपयोग नहीं करते है उन्हें टोल चुकाना पड़ता है.

२ नवंबर २०१३ को जिलाधिकारी कार्यालय में हुई बैठक के अनुसार जिलाधिकारी ने उपविभागीय अधिकारी को टोल स्थानांतरित करने का निर्देश दिया था। उसके बाद सर्वसम्मति से यह निश्चित किया गया था कि मनसर के पुराने पुलिस चौकी के सामने राष्ट्रीय आदर्श विद्यालय के पास टोल स्थापित किया जाएगा। उक्त निर्णय हुए ३ साल बीत गए लेकिन आज भी मामला/समस्या यथावत है.यादव ने जिला प्रशासन,पुलिस अधीक्षक पर आरोप लयाया कि उन्होंने सुको के निर्देशों का उचित ढंग से पालन नहीं किया है.

उक्त ज्वलंत समस्या से १२ जून २०१७ से केंद्रीय मंत्री गडकरी,नागपुर जिलाधिकारी,रामटेक के राजस्व उपविभागीय अधिकारी,नागपुर जिला के पुलिस अधीक्षक,रामटेक के उपविभागीय अधिकारी,रामटेक के तहसीलदार व रामटेक के थानेदार को पुनः लिखित रूप से अवगत करवाया गया.इसके बावजूद शीघ्र समस्या का निवारण नहीं हुआ तो यादव उक्त मामले को लेकर सुको में याचिका दायर कर न्याय हेतु गुहार लगाएंगे। फिर हमेशा की तरह सरकार यह कहती फिरेंगी कि क्या प्रशासन न्यायलय चलाएंगे। जब सरकार के कानों पर वर्षो जूं नहीं रेंगता तो जनता-जनार्दन-ग्रसित न्यायालय की शरण में जाने को मजबूर हो जाते है.

– राजीव रंजन कुशवाहा

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement