Published On : Tue, Sep 10th, 2019

गोंदिया: कांग्रेसी नेता चला.. भाजपाई बनने

गोंदियाः तारीख पे तारीख.. वाले फिल्मी डॉयलाग पर लगेगा विराम

गोंदिया: गोंदिया जिले में फिर एक बार इन जनचर्चाओं ने जोर पकड़ना शुरू कर दिया है कि, तारीख पे तारीख.. तारीख पे तारीख !! वाले इस फिल्मी डॉयलाग पर जल्द विराम लगेगा।

शुभ मुहुर्त और मंगल घड़ी का इंतजार कर रहा कांग्रेस का एक बड़ा नेता बहुत जल्द भाजपाई बनने जा रहा है ? और ऊपरी स्तर पर इसकी तमाम तैयारियां पूरी होने की जानकारी सूत्रों से मिल रही है। हालांकि इस नेता के भाजपाई बनने की चर्चा विगत 2 माह से जिले में जारी है लेकिन अब जो खबरें छन्न-छन्न कर बाहर आ रही है, उसपर यकीन करें तो कांग्रेस का यह नेता भाजपाई दुपट्टा धारण करने का पक्का मन बना चुका है।
सूत्र बताते है, कि कांग्रेस का यह नेता दिल से भाजपाई बन चुका है तथा शरीर से वह अगले कुछ समय में भाजपा में अधिकृत प्रवेश कर कांग्रेस और उसके चाहने वालों में मायूसी पैदा करेगा?

टिकट की थी आस, डील लगभग पक्की
इस नेता ने विगत कुछ दिनों से जिस प्रकार की कार्यप्रणाली अपनायी है उसे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि, इसके भाजपा में प्रवेश को हरिझंडी मिल चुकी है।
सूत्र बताते है कि, स्वंय मुख्यमंत्री से इस कांग्रेसी नेता के घनिष्ठ संबंध है, लिहाजा भाजपा में उचित स्थान और सम्मान तथा आगामी चुनाव का टिकट देने के बारे में इसे आश्‍वस्त किया गया है।

इसके भाजपाई बनने पर, कांग्रेस का उम्मीदवार कौन?
गोंदिया जिले में कांग्रेस पार्टी के सामने सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि, अगर यह नेता अगले कुछ दिन में भाजपा में चला गया तो पार्टी के पास कोई इस कद के जनाधार वाला दूसरा नेता नहीं है?
क्योंकि, कार्यकर्ताओं की फौज अकसर इसी के ईद-गिर्द देखी जाती है और इसे 3 दशकों की राजनीति का गहन अनुभव भी है। सूत्रों की मानें तो यह नेता अपने लालबत्ती के सपनों को साकार करने तथा अपने बच्चों का राजनीतिक भविष्य संवारने की तैयारी कर चुका है।
अब एैसे में सवाल यह उठता है कि, फिर कांग्रेस की उम्मीदवारी किसे मिलेगी? क्योंकि इस नेता ने कभी दूसरे पंक्ति ने किसी नेता को आगे आने का अवसर ही नहीं दिया है, लिहाजा हर कांग्रेसी को फूट के आसार और शून्यता नजर आती है।

इमारत के लोकापर्ण पत्रिका ने मचायी खलबली
प्रोग्राम चाहे कोई भी हो , पत्रिका में नामों का चयन और उसका डिजाइन घर का मुखिया ही फाइनल करता है। ग्रामीण इलाके की 2 नवनिर्मित इमारत का लोकार्पण होना है तथा इसके लिए जो पत्रिका और डिजाइन जारी किया गया है उसके ऊपर कांग्रेस आलाकमान के किसी नेता की तस्वीर (फोटो) नहीं है और पत्रिका से पार्टी का चुनाव चिन्ह भी नदारद है। सबसे अधिक चौंकाने वाली बात यह है कि, अब तो बकायदा इस कांग्रेसी नेता ने भाजपा के मंत्रीमंडल में शामिल नेताओं को अपना बॉस भी मान लिया है तथा इन नेताओं को उचित सम्मान देते हुए उनकी फोटो पत्रिका में उचित स्थान पर लगायी है।

यह लोकार्पण पत्रिका जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुई, तरह-तरह के कमेन्ट्स आना शुरू हो गए, जिससे इस बात को बल मिलता है कि, अपने पुराने कांग्रेसी उस्ताद रहे मित्र जिसने 4 माह पूर्व भाजपा प्रवेश कर पुरस्कार के तौर पर मंत्रीपद हासिल किया है, उसकी अगुवाई में यह कांग्रेसी नेता भाजपा का भगवा दुप्पट्टा धारण करने तो नहीं जा रहा है?

देखना दिलचस्प होगा, अगले कुछ दिन गोंदिया जिले की राजनीति में क्या भूचाल लाते है?

रवि आर्य