Published On : Sun, May 2nd, 2021

कोरोना महामारी में भी मोर्चे पर डटे हैं कोयला-कर्मी

समाज की सहायता में भी WCL कर रही है सक्रिय योगदान

कोरोना महामारी के बावज़ूद टीम वेकोलि के सदस्य अपने दायित्व- निर्वहन में लगातार लगे हैं,ताकि ऊर्जा-जरूरतों की आपूर्ति बदस्तूर होती रहे और रेलगाड़ी का परिचालन सुगमता से जारी रहे तथा संकट के इस दौर में अस्पतालों में बिजली की कमी न हो और मरीजों का इलाज निर्बाध रूप से चलता रहे.

कोयला- उत्पादन का अपना प्रमुख दायित्व निभाते हुए ,कोरोना – संक्रमण की वर्तमान आपदा से निपटने के लिए भी कम्पनी हर स्तर पर प्रयास करते हुए योगदान कर रही है.कम्पनी के अस्पतालों में 264 बेड कोरोना से संक्रमित लोगों के लिए सुरक्षित हैं.क्षेत्रों के सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन और एम्बुलेंस की सुविधा 24 X 7 उपलब्ध हैं.WCL के हॉस्पिटल्स में इलाज़ के बाद 911 लोग ठीक होकर अपने घर लौटे हैं. कर्मियों एवं उनके आश्रितों सहित 18,171 लोगों को कोरोना का टीका लगवाया जा चुका है.बड़ी संख्या में RTPCR , ANTIGEN Test और VACCINATION आदि कराये जा रहे हैं.सभी कार्य- स्थलों एवं कॉलोनी में नियमित Sanitization कराया जा रहा है.


इसका ज़िक्र प्रासंगिक है कि टीम वेकोलि के सदस्य बड़ी संख्या में स्वेच्छा से प्लाज़्मा एवं रक्त-दान के लिए स्वयं आगे आ रहे हैं.वणी क्षेत्र के घुघुस स्थित राजीव रतन केन्द्रीय अस्पताल के वातानुकूलित कोविड केयर यूनिट में 28 बेड उपलब्ध हैं.ज़रूरत पड़ने पर आइसोलेशन के लिए कॉलोनी तथा OB Camp में भी व्यवस्था तैयार रखी गयी है.माजरी क्षेत्र ने वरोरा अस्पताल को 100 बेड दिये हैं.क्षेत्र की एकता नगर कॉलोनी और सामुदायिक भवन में भी आइसोलेशन सेंटर उपयोग में लाया जा रहा है.

CSR के तहत नागपुर के जिलाधिकारी को GMC तथा IGMC में ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए आंशिक भुगतान के रूप में 2.05 करोड़ रूपये उपलब्ध कराये गये हैं.चंद्रपुर के जिलाधिकारी को 3.5 करोड़ रूपये ऑक्सीजन प्लांट के उपकरणों की आपूर्ति के लिए कम्पनी देनेवाली हैं.पाथाखेड़ा क्षेत्र के महाप्रबंधक ने CSR के तहत बैतूल के जिलाधिकारी को 25 लाख रूपये का चेक प्रदान किया.इसी तरह,पेंच क्षेत्र और कन्हान क्षेत्र के महाप्रबंधक ने छिंदवाड़ा जिला के कलेक्टर को 25 लाख रूपये का चेक प्रदान किया, जिसका उपयोग कोविड 19 से बचाव के लिए किया जायेगा. वेकोलि ने अपने सभी 10 क्षेत्रों को 10-10 लाख रूपये कोविड-19 से मुकाबले और त्वरित कार्रवाई के लिए उपलब्ध कराये हैं. कोविड 19 से निपटने के लिए कम्पनी 2021-22 में CSR के अंतर्गत अभी तक 7 करोड़ 5 लाख 50 हज़ार रूपये खर्च कर चुकी है.

उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष भी वेकोलि ने नागपुर, चंद्रपुर, यवतमाल, छिंदवाडा और बैतूल के जिलाधिकारियों को 25-25 लाख रूपये उपलब्ध कराये थे.